BSA जांच टीम को स्कूलों में अप्सेंट मिले टीचर्स

BSA जांच टीम को स्कूलों में अप्सेंट मिले टीचर्स

जिले में ग्रामीण इलाकों के प्राथमिक स्कूलों का बुरा हाल है। BSA कि जांच टीम को कहीं भी सब कुछ ठीक देखने को नहीं मिला। कुछ स्कूल शिक्षामित्रों के हवाले मिले। जबकि कई स्कूलों में मास्टर अप्सेंट मिले। वही कई स्कूलों में बच्चों को मिड डे मील के तहत पोषणयुक्त खाना नहीं दिया जा रहा है। स्कूलों की साफ सफाई भी आधी अधूरी मिली।


BSA कि जांच टीम ने तैयार की रिपोर्ट

पिछले सप्ताह जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय की टीम ने कई स्कूलों का निरीक्षण किया था।जिसमें कई खामिया सामने आई है। जिला समन्वयक मिड डे मील सौरभ पांडेय ने बताया, कि घाटमपुर नवेडी के प्राइमरी स्कूल में 15 छात्रों के लिए 20 रोटी बनाई गई थी। इस स्कूल में दाल की मात्रा भी बेहद कम मिली। दाल के साथ में ही हरी सब्जी मिलाई हुई थी।


हर छात्र को पौष्टिक आहार का है नियम

हर छात्र को न्यूनतम दो रोटी देने का नियम हैं। इसी अनुपात में दाल की मात्र को भी रखा गया हैं। विभाग द्वारा पूरे महीने में हर गुरुवार दाल और रोटी के लिए 10 किलो आटा, दो किलो दाल और 500 ग्राम तेल दिया जाता है।


स्कूलों में नहीं मिली सफाई

घाटमपुर के नवेडी प्राइमरी विद्यालय में हेडमास्टर करीम आसिफ मिले। यहां स्कूल में शौचालय, पोषण वाटिका और मिशन कायाकल्प के तहत भी कोई काम नहीं कराया गया था। स्कूल में काफ़ी ज्यादा गंदगी देखने को भी मिली है।


हेड मास्टर और टीचर्स मिले अप्सेंट

प्राइमरी स्कूल कंधईपुर में निरीक्षण में हेड मास्टर और टीचर ही अप्सेंट मिले। यहां पढ़ाई शिक्षा मित्रों के हवाले दिखाई दी। निरिक्षण के दौरान हेड मास्टर राकेश और सहायक अध्यापक सुनील दोनों अनुपस्थित मिले। मौके पर मिले शिक्षा मित्र श्यामबाबू ने बताया कि हेड मास्टर और सहायक अध्यापक कहां हैं उसको नहीं मालूम है। जब उनसे फोन पर बात की गई तो बोले कि ब्लाक में किताबें लेने आए हैं।


टीचर ने बताया दाल रोटी दी गई, बच्चें बोले खिचड़ी

BSA जांच टीम को शिक्षा मित्र ने बताया कि बच्चों को खाने में दाल रोटी दी गई है। जब बच्चों से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि खिचड़ी मिली है। इसके बाद जब किचन का निरीक्षण किया गया तो वहां पर किसी भी चीज के प्रमाण नहीं मिले।


BSA को सौपी जायेगी रिपोर्ट

सौरभ पांडेय ने बताया कि कई स्कूलों में खामियां मिली है। रिपोर्ट बनाकर बीएसए को दी जायेगी। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी सुरजीत कुमार सिंह ने कहा कि जिन स्कूलों में खामियां मिली हैं। वहां दोषियों पर कार्रवाई सुनिश्चित कि जायेगी।

Leave a Reply

Required fields are marked *