New Delhi: सतीश कौशिक को याद कर रो पड़े अनुपम खेर; बोले- हम एक-दूसरे से जलते झगड़ते थे, उसके जाने से समझ में नहीं आ रहा है कि क्या करुं

New Delhi: सतीश कौशिक को याद कर रो पड़े अनुपम खेर; बोले- हम एक-दूसरे से जलते झगड़ते थे, उसके जाने से समझ में नहीं आ रहा है कि क्या करुं

एक्टर-डायरेक्टर सतीश कौशिक का बुधवार रात 1:30 बजे दिल्ली में निधन हो गया था। वे 66 साल के थे। इस बात की जानकारी अनुपम खेर ने ट्वीट कर के दी थी। वो और सतीश कौशिक पिछले 45 साल से दोस्त थे। उनके निधन के 2 दिन बाद अनुपम खेर का वीडियो सामने आया है, जिसमें वो अपने जिगरी दोस्त को याद करते हुए रो पड़े।

जब से वो गया है समझ नहीं आ रहा है कि क्या करुं- अनुपम खेर

ये वीडियो अनुपम खेर ने अपने इंस्टाग्राम हैंडल पर शेयर किया है। इस वीडियो के जरिए उन्होंने बताया- मैं आप लोगों से इसलिए बात कर रहा हूं क्योंकि मैं अपने दोस्त सतीश कौशिक को खोने के कारण बहुत ज्यादा दुखी हूं और यह मुझे तकलीफ दे रहा है। हमारी दोस्ती 45 साल से थी। उसका साथ होना एक आदत थी।

वो जब से गया है तो कभी-कभी, जैसे आज मैं सोच रहा था कि मैं कहां खाना खाऊं, क्या खाना खाऊं। फिर मैंने कहा कि अरे सतीश को फोन करता हूं। मैंने फोन उठाया और मैं उसका नंबर डायल करने वाला था कि तभी याद आया कि वो अब हमारे बीच नहीं है।

हम दोनों ने अपने करियर की शुरुआत एक साथ की थी

ये समय मेरे लिए बहुत मुश्किल है क्योंकि 45 साल एक बहुत बड़ा समय है, किसी के साथ होने का। हम दोनों ने सपने साथ में देखे थे। हम दोनों ने साथ में नैशनल स्कूल ऑफ ड्रामा से करियर की शुरुआत की थी। साथ में हमारा उठना-बैठना था, खाना भी हम साथ खाते थे। वो डे स्कॉलर था और मैं हॉस्टलर था। बॉम्बे वो पहले आ गया था, मैं बाद में आया। हम दोनों ने बहुत मेहनत की, इस मुकाम पर पहुंचे और कामयाबी हासिल की।

अनुपम खेर बोले- हम जलते और झगड़ते भी थे

अनुपम खेर आगे कहते हैं- हम दोनों एक- दूसरे से जलते भी थे और झगड़ते भी, लेकिन रोज सुबह 8 या साढ़े 8 बजे एक दूसरे को काॅल जरुर करते थे। मेरा कल से किसी काम में मन नहीं लग रहा है। मुझे इस चीज से मूव ऑन करना है। जब हम किसी को खो देते हैं या कोई हमारी जिंदगी से चला जाता है तो हमें मूव ऑन करना पड़ता है। जिंदगी भी हमें यही सिखाती है और यही हमें सीखना भी है। मैंने सोचा कि जो मैं मन में सोच रहा हूं, वो सब मैं आप लोगों के साथ शेयर करूं तो मैं कुछ बेहतर महसूस कर सकूंगा।

मैं लाइफ में वो चीजें करुंगा, जिससे सतीश को खुशी मिलेगी- अनुपम खेर

इतना कहते ही अनुपम खेर रो पड़ते है। खुद को संभालते हुए वो आगे कहते हैं- मुझे मूव ऑन करना है लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि मैं सतीश को भुल जाऊंगा या उस खालीपन को, जो उसके जाने से हुआ है। मैं लाइफ में आगे वो चीजें करुंगा, जिनसे उसे खुशी मिलेगी। दूर बैठे भी वो मेरी तरक्की देख कर कहेगा- वाह, तू मेरे से अच्छा काम कर रहा है।

सतीश कौशिक दोस्तों का दोस्त था

सतीश कौशिक की तारीफ करते हुए अनुपम खेर बोलते हैं- वो बहुत अच्छा इंसान था। दोस्तों का दोस्त था। जिंदगी चलती रहनी चाहिए। मैं कोशिश करूंगा कि उसको खुश करूं। मेरे प्यारे दोस्त सतीश कौशिक, तू हमेशा मेरे दिल में रहेगा।

66 साल की उम्र में दुनिया को कहा अलविदा

अभिनेता और डायरेक्टर सतीश कौशिक का बुधवार रात 1:30 बजे दिल्ली में निधन हुआ था। वे 66 साल के थे। वे दिल्ली में होली के कार्यक्रम में शामिल होने गए थे। अचानक हुई मौत के बाद दिल्ली के दीनदयाल अस्पताल में उनके शव का पोस्टमॉर्टम कराया गया था, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मौत की वजह कार्डियक अरेस्ट बताई गई। उनकी पार्थिव देह मुंबई स्थित उनके घर लाई गई थी, जहां से उनकी अंतिम यात्रा निकाली गई थी। इसके बाद वर्सोवा के श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार हुआ।

Leave a Reply

Required fields are marked *