UP स्थापना दिवस समारोह शुरू,लखनऊ में CM योगी बोले- दंगों के प्रदेश से एक्सपोर्ट हब के रूप में उत्तर प्रदेश उभरा

UP स्थापना दिवस समारोह शुरू,लखनऊ में CM योगी बोले- दंगों के प्रदेश से एक्सपोर्ट हब के रूप में उत्तर प्रदेश उभरा

उत्तर प्रदेश का स्थापना दिवस समारोह आज शुरू हुआ। समारोह 24 से 26 जनवरी तक मनाया जाएगा। लखनऊ के अवध शिल्प ग्राम शहीद पथ में आयोजित कार्यक्रम का शुभारंभ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और CM योगी आदित्यनाथ किया। CM योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश दिवस मनाने की शुरुआत 2017 में प्रदेश में डबल इंजन सरकार बनने के बाद से हुई।

इस समारोह से UP की सही तस्वीर उभरकर सामने आ रही है। पिछले पांच सालों में UP की पहचान बदली है। 2017 के पहले UP दंगों के प्रदेश के रूप में जाना जाता था। अब दंगों के प्रदेश से UP की पहचान एक्सपोर्ट प्रदेश के रूप में हो रही है

UP की बोलियों पर आधारित कवि सम्मेलन होगा

आज यानी मंगलवार की दोपहर एक बजे से रात आठ बजे तक UP की विभिन्न बोलियों पर आधारित कवि सम्मेलन होगा। साथ ही भक्ति संगीत में कन्हैया मित्तल शामिल होंगे। स्थापना दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर उत्तर प्रदेश वासियों को शुभकामनाएं दी हैं।

26 जनवरी को होगा समापन

उत्तर प्रदेश दिवस का शुभारंभ 24 जनवरी को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और CM योगी आदित्यनाथ ने किया।

24 जनवरी को सिक्किम, छत्तीसगढ़, बिहार और अरुणाचल प्रदेश के लोक नृत्यों की प्रस्तुति की जाएगी।

24 जनवरी को कवि सम्मेलन होगा। UP की विभिन्न बोलियों में अवधी, ब्रज, बुंदेली, भोजपुरी, खड़ी बोली और हिंदी भाषा के नामचीन कवि शामिल होंगे।

25 जनवरी को दोपहर 1 बजे से प्रदेश के विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे।

अंतरराष्ट्रीय मिनट्स वर्ष के अंतर्गत (मोटा अनाज) आधारित संगोष्ठी, एमएसएमई और खादी ग्राम उद्योग द्वारा राष्ट्रीय सेमिनार, 1 ट्रिलियन इकोनामी विषय पर सेमिनार और पुरस्कार वितरण होगा।

25 जनवरी को नई पर्यटन नीति और बुंदेलखंड के किलों पर आधारित लघु फिल्म, प्रदर्शन एग्रो रूलर और इको टूरिज्म पर सेमिनार होगा।

25 जनवरी को भोजपुरी सांस्कृतिक संध्या में गायक दिनेश लाल यादव निरहुआ शामिल होंगे।

26 जनवरी को शाम 7 से 8:30 बजे के बीच उत्तर प्रदेश दिवस के प्रतिभागी कलाकारों को सम्मानित किया जाएगा।

26 जनवरी को सूफीवाद/भक्ति गायक कैलाश खेर कार्यक्रम का समापन करेंगे।

योगी सरकार में शुरू हुआ उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस

आजादी के बाद 24 जनवरी 1950 को संयुक्त प्रांत की जगह इसका नाम बदलकर उत्तर प्रदेश किया गया। वैसे महाराष्ट्र में उत्तर प्रदेश के नेताओं द्वारा यूपी दिवस 1989 से मनाया जा रहा था। भाजपा नेता अमरजीत मिश्र इसका आयोजन करते थे। उनके बाद में राम नाइक के उत्तर प्रदेश का गवर्नर बनते ही इसका सुझाव दिया। लेकिन, समाजवादी पार्टी सरकार ने इसे मंजूर नहीं किया। फिर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने मई 2017 में हर वर्ष 24 जनवरी को यूपी दिवस मनाने का ऐलान किया।

आजादी के बाद उत्तर प्रदेश का नामकरण

वर्ष 1947 में संयुक्त प्रांत (अब का उत्तर प्रदेश) को आजाद भारत की एक प्रशासनिक इकाई बनाया गया। 2 साल बाद टिहरी गढ़वाल और रामपुर की रियासतों को भी संयुक्त प्रांत में शामिल किया गया। 1950 में भारतीय गणराज्य का नया संविधान के लागू होते ही 12 जनवरी 1950 को संयुक्त प्रांत का नामकरण उत्तर प्रदेश किया गया। उत्तर प्रदेश को भारतीय संघ का राज्य बनाया गया।


Leave a Reply

Required fields are marked *