चोरी को फैमिली बिजनेस बना चुके गैंग का हुआ भंडाफोड़ , पत्नियां दिन में लेती थीं जायजा , पति देते थे चोरी को अंज़ाम

चोरी को फैमिली बिजनेस बना चुके गैंग का हुआ भंडाफोड़ , पत्नियां दिन में लेती थीं जायजा , पति देते थे चोरी को अंज़ाम

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में हरदोई की पुलिस ने दो ऐसे ही दंपतियों सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया है जो लगातार नकबजनी , चोरी , टप्पेबाजी और लूटपाट की घटनाएं करके पुलिस की नींद हराम किए हुए थे।  इनमें से महिलाएं दिन में आसपास के कस्बों में निकलकर इलाके में रेकी करती थी और खाली पड़े घर , ताला बंद घर और उनके बारे में जानकारी एकत्र करने के बाद अपने पतियों को उनके बारे में जानकारी देती थी।  जिसके बाद पति और उनके साथी पत्नियों के साथ मिलकर अपराध की घटनाओं को अंजाम देता था और चोरी के सामान को इधर-उधर बेचकर उससे मिले हुए पैसे को आपस में बांट लेते थे. इन लोगों के पास से आठ वारदातों में चोरी किए गए 21 सोने के आभूषण और 39 चांदी के आभूषणों के अलावा एलईडी टीवी , तीन अवैध शस्त्र सहित नगद धनराशि बरामद की गई है।  पकड़े गए पांच अभियुक्तों में दो दंपति आपस में सगे साढू हैं जो अपनी पत्नियों के साथ वारदात को अंजाम देते थे। 

हरदोई के बिलग्राम कोतवाली पुलिस के पहरे में खड़े  धर्मेंद्र कोतवाली शहर के धियर महोलिया का रहने वाला है गौतम थाना बिलग्राम के रफैयत गंज और सर्वेश थाना हरियावां के अरुवा गांव का रहने वाला है इसके अलावा पकड़ी गई दो महिलाओं में पारुल धर्मेंद्र की पत्नी है जबकि दूसरी महिला रोली गौतम की पत्नी है।  दोनों महिलाएं आपस में सगी बहन भी हैं। पुलिस ने इन सभी को चोरियों की वारदात के आरोप में गिरफ्तार किया है। दरअसल लगातार नकबजनी और चोरी की वारदातों के बाद पुलिस अधीक्षक ने ऑपरेशन सुरंग चलाकर अपर पुलिस अधीक्षक के अनिल कुमार के नेतृत्व में पुलिस की स्वाट और एसओजी के साथ चार टीमें गठित की थी जिन्हें मुखबिर के जरिए इन शातिर चोर गिरोह के बारे में सूचना मिली कि कुछ महिलाएं और पुरुष मिलकर चोरी की वारदात को अंजाम देने के लिए बिलग्राम कोतवाली इलाके में मौजूद हैं।  जिसके बाद पुलिस ने घेराबंदी करके 3 पुरुष और 2 महिलाओं को पकड़ लिया।  पकड़े गए लोगों से पूछताछ में पुलिस ने इनके पास से 21 सोने के आभूषण 39 चांदी के आभूषण ,एक एलईडी टीवी , तीन तमंचे और नगद रुपए बरामद किए हैं। 

पुलिस के मुताबिक गिरोह में रोली और पारुल आसपास के कस्बों में निकलकर रेकी करती थी और यह देखती थी कि किन घरों में ताले बंद है उसके बाद यह महिलाएं अगल बगल में उन घरों के बारे में जानकारी लेने के बाद अपने पतियों को उन घरों के बारे में बताती थी।  जिसके बाद रात में पूरा गिरोह चोरी की वारदात करने निकलता था और यह आसानी से चोरी की वारदातों को अंजाम दे देते थे। पूछताछ में इस गिरोह ने 8 से अधिक चोरियों की वारदात कबूल की है। जिनका सामान पुलिस ने इनके पास से बरामद किया है। पुलिस पकड़े हुए इन सभी आरोपियों को जेल भेजने की कार्रवाई कर रही है।


Leave a Reply

Required fields are marked *