प्रियंका चोपड़ा ने बेटी संग करवाया फोटोशूट:रेड ड्रेस में की ट्यूनिंग, BTS वीडियो में दिखा मां-बेटी का क्यूट बॉन्ड

प्रियंका चोपड़ा ने बेटी संग करवाया फोटोशूट:रेड ड्रेस में की ट्यूनिंग, BTS वीडियो में दिखा मां-बेटी का क्यूट बॉन्ड

ग्लोबल आइकॉन एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा बेटी मालती मैरी के जन्म के बाद से ही मदरहुड को इंजॉय करती हुई नजर आती हैं। हाल ही में प्रियंका ने पहली बार अपनी बेटी के साथ एक मैगजीन के लिए फोटोशूट कराया जिसका एक BTS वीडियो सामने आया है। इस वीडियो में प्रियंका ने रेड बॉडीकॅान ड्रेस पहनी है, जिसमें फुल स्लीव्स और टर्टल-नेक था। उन्होंने अपने लुक को एक यूनिक नेकलेस और वेवी बालों के साथ पूरा किया था। वहीं, मैचिंग कलर के ड्रेस में बच्ची बेहद क्यूट लग रही थीं। इस वीडियो के सामने आते ही फैंस प्रियंका के इस वीडियो पर जमकर लाइक और कमेंट कर रहे हैं।

19 जनवरी 2023 को प्रियंका चोपड़ा ने अपने इंस्टाग्राम पर मैगजीन शूट से अपनी बेटी मालती के साथ एक खूबसूरत फोटो शेयर की है। इस फोटो को शेयर करते हुए उन्होंने कैप्शन में लिखा, हम लोगों की साथ में इस तरह की पहली फोटो #MM। ब्रिटिश वोग, फरवरी 2023। इस दौरान उन्होंने मैगजीन को दिए इंटरव्यू में अपनी पर्सनल लाइफ के बारे में कुछ बातें की हैं।

इंटरव्यू के दौरान मालती के जन्म को लेकर प्रियंका ने कहा, जब मालती का जन्म हुआ, तो ऑपरेटिंग रूम में थी। वह मेरे हाथ से भी छोटी थी। मैंने देखा कि इंटेंसिव केयर नर्सें क्या करती हैं, वो भगवान से कम नहीं हैं। एक्ट्रेस ने कहा कि मुझे मेडिकल प्रॉब्लम है और इसी वजह से मैं खुद बच्चे को जन्म नहीं दे सकती। उन्होंने कहा, मुझे मेडिकल कॉम्प्लिकेशन हैं, तो ये जरूरी था कि अगर हम बच्चे के बारे में सोचे तो सरोगेसी से ही बच्चा करें। मैं इसके लिए खुद को खुशनसीब समझती हूं कि मुझे ये मौका मिला और मैं अपनी सरोगेट की भी शुक्रगुजार हूं जिसने छह महीने तक हमारे इस अनमोल तोहफे का ख्याल रखा। प्रियंका ने कहा है कि उन्हें काफी दुख होता है कि जब कोई उन्हें सरोगेसी से बच्चा करने के लिए निशाना बनाता है।

प्रियंका की बच्ची का जन्म डॉक्टर की दी गई डेट से 12 हफ्ते पहले ही हो गया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक बच्चे के पैदा होने की तारीख अप्रैल की दी थी, लेकिन वह जनवरी में ही पैदा हो गई। प्री-मैच्योर डिलीवरी के कारण बच्ची कुछ कमजोर भी थी। इस लिए निक-प्रियंका ने यह फैसला किया था कि जब तक बच्ची पूरी तरह से स्वस्थ नहीं हो जाती, तब तक वह अस्पताल में ही रहेगी।

Leave a Reply

Required fields are marked *