गावस्कर का सवाल-300 रन मारने वाला अनफिट कैसे:सरफराज को ना चुनने पर सिलेक्टर्स से कहा- स्लिम क्रिकेटर चाहिए तो फैशन शो में जाइए

गावस्कर का सवाल-300 रन मारने वाला अनफिट कैसे:सरफराज को ना चुनने पर सिलेक्टर्स से कहा- स्लिम क्रिकेटर चाहिए तो फैशन शो में जाइए

पूर्व दिग्गज क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने मुंबई के क्रिकेटर सरफराज खान के टीम इंडिया में सेलेक्ट नहीं होने पर गुस्सा जाहिर किया। उन्होंने चेतन शर्मा की सेलेक्शन कमेटी को लताड़ लगाते हुए कहा कि आपको टीम में स्लिम-ट्रिम क्रिकेटर चाहिए तो फैशन शो जाइए और वहां से लेकर आइए। उनके लिए तो सरफराज पूरी तरह फिट हैं। अगर वे अनफिट होते तो तिहरा शतक नहीं मार पाते।

शरीर देखकर सेलेक्शन क्यों?

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारतीय टेस्ट टीम में सरफराज का सेलेक्शन नहीं हुआ। मीडिया रिपोर्ट्स में बातें सामनें आईं कि फिटनेस के कारण सरफराज को साइडलाइन किया गया। वहीं, ऋषभ पंत की गैरमौजूदगी में सूर्यकुमार यादव और ईशान किशन जैसे अटैकिंग बैटर को टीम में चुना गया।

इस पर गावस्कर बोले, किसी खिलाड़ी का सेलेक्शन शरीर या कद-काठी देखकर नहीं होना चाहिए। अगर कोई खिलाड़ी लगातार 3 रणजी सीजन में 100 से ज्यादा की औसत से 900 रन बना रहा हो तो वो अनफिट नहीं हो सकता है। मेरे लिए सरफराज पूरी तरह फिट हैं। उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टीम इंडिया के स्क्वॉड में होना ही चाहिए।

अनफिट क्रिकेटर तिहरा शतक कैसे मार सकेगा?

एक इंटरव्यू में गावस्कर ने कहा, अगर खिलाड़ी अनफिट हैं तो वह दिन के आखिरी में शतक ही पूरा नहीं कर पाएगा। सरफराज ने तो तिहरा शतक मार रखा है। BCCI ने यो-यो टेस्ट को फिटनेस का पैमाना बना रखा है। शतक लगाने के बाद भी सरफराज फील्डिंग करने आता है। वो साबित करता है कि क्रिकेट के लिए वह कितना फिट है।

मॉडल को थमा दीजिए बैट और बॉल

गावस्कर यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा कि BCCI सेलेक्शन कमेटी को अगर स्लिम और ट्रिम लड़के ही चाहिए। तो फिर उन्हें फैशन शो में जाकर कुछ मॉडल सेलेक्ट करने चाहिए और उन्हें बैट-बॉल थमाकर क्रिकेट खिलाना चाहिए। उन्हें ही टीम में भी शामिल करना चाहिए। आपके पास सभी शेप और साइज के क्रिकेटर हैं, उस पर मत जाइए। रन बनाने और विकेट लेने की क्षमता पर टीम सेलेक्शन कीजिए।

सरफराज 2019 से लगातार रन बना रहे

सरफराज खान 2019 के रणजी ट्रॉफी सीजन से मुंबई के लिए फर्स्ट क्लास क्रिकेट में रन बना रहे हैं। उस सीजन के 6 मैचों में उन्होंने 154.66 की औसत से 928 रन बनाए थे। इनमें 3 शतक और 2 फिफ्टी भी आई थीं। इस दौरान उनके बैट से 301 रन की पारी भी निकली थी।

2020-21 का रणजी सीजन कोविड-19 महामारी के चलते नहीं हो सका था। 2021-22 सीजन में रणजी ट्रॉफी लौटते ही सरफराज ने फिर रनों का अंबार लगा दिया। सीजन के 6 मैचों में उन्होंने इस बार 122.75 की औसत से 982 रन बना डाले। उनके दम पर टीम फाइनल तक पहुंची। मुंबई तो फाइनल हार गई, लेकिन सरफराज खान को प्लेयर ऑफ द सीजन चुना गया।

इंडिया-A के लिए 4 मैच खेले

सरफराज खान ने इंडिया-ए के लिए अब तक 4 मैच खेले हैं। इनकी 7 पारियों में उन्होंने 34.16 की औसत से 205 रन बनाए हैं। उनके बैट से 2 फिफ्टी आईं और उन्होंने बॉलिंग से 5 विकेट भी लिए। पिछले दिनों बांग्लादेश के खिलाफ ए सीरीज में वे कुछ खास नहीं कर सके थे। लेकिन, साउथ अफ्रीका की मुश्किल परिस्थितियों में उन्होंने 71 रन की नॉटआउट पारी खेली थी। फर्स्ट क्लास क्रिकेट के 37 मैचों में उनके नाम 13 शतक हैं।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की टेस्ट टीम में जगह नहीं मिलने के बाद मुंबई के युवा बैटर सरफराज खान ने एक और शतक जड़ दिया है। उन्होंने रणजी ट्रॉफी में दिल्ली के खिलाफ 135 बॉल पर अपनी सेंचुरी पूरी की। इस सीजन में उनके बैट से निकली यह तीसरी सेंचुरी है। सीजन के 6 मैचों में वह 500 से ज्यादा रन बना चुके हैं। 

Leave a Reply

Required fields are marked *