बीटेक छात्रा सुसाइड में वजह डिप्रेशन:झांसी में भाई बोला-100% नंबर पर संतुष्ट होती थी बहन, एग्जाम से पहले डॉक्टर से दवा भी ली थी

बीटेक छात्रा सुसाइड में वजह डिप्रेशन:झांसी में भाई बोला-100% नंबर पर संतुष्ट होती थी बहन, एग्जाम से पहले डॉक्टर से दवा भी ली थी

झांसी में बीटेक की छात्रा सृष्टि राय ने पढ़ाई को लेकर डिप्रेशन में चल रही थी। जिसके चलते फांसी लगाकर जान दे दी। वह बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी में थर्ड ईयर की स्टूडेंट थी। यूनिवर्सिटी कैंपस के समता गर्ल्स हॉस्टल में रूम नंबर 306 में रहती थी। पुलिस की अब तक की जांच में यह बात सामने आई है।

13 जनवरी से उसके 5वें सेमेस्टर के एग्जाम शुरू होने वाले थे। उससे एक दिन पहले यानी 12 जनवरी को वह महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज में दिखाने गई थी। वहां उसने मनोचिकित्सक से जांच कराया और दवाई लेकर वापस आ गई थी। उसके कमरे से डॉक्टर का पर्चा और दवाइयां भी पुलिस ने बरामद की हैं।

पढ़ाई के प्रति ज्यादा सीरियस थी बहन

सृष्टि राय के बड़े भाई अजीत राय ने बताया कि “एग्जाम चल रहे थे, इसलिए बहन डिप्रेशन में थी। वह पढ़ाई के प्रति कुछ ज्यादा ही सीरियस थी। उसका 100 में से 100 नंबर लाने का प्रयास रहता था। इससे कम में संतुष्ट नहीं होती थी।

10वीं और 12वीं में उसके 98 प्रतिशत से ज्यादा अंक आए थे।” सृष्टि 4 भाई बहनों में सबसे छोटी थी। पूरा परिवार बिहार के पटना का रहने वाला है। पिता जय प्रकाश राय बिहार पुलिस में सीनियर इंस्पेक्टर के पद से रिटायर हो चुके हैं। अब पूरा परिवार गोरखपुर में शिफ्ट हो गया है।

फोन पर मां से हुई थी आखिरी बार बात

पुलिस ने छात्रा सृष्टि राय के मोबाइल की जांच की। इससे पता चला कि छात्रा ने अंतिम बार अपनी मां से बुधवार रात करीब 11बजकर 30 मिनट पर बातचीत की थी। इसके बाद पुलिस ने भी फोन पर मां से बात की। उन्होंने पुलिस को बताया कि बेटी पढ़ाई को लेकर डिप्रेशन में थी।

सृष्टि ने कॉपी से लेकर दीवारों तक पढ़ाई के बारे में लिखा हुआ है। जैसे बहुत आगे बढ़ना चाहिए, मेहनत करना चाहिए, दिन-रात मेहनत करना चाहिए…

बर्थ-डे पार्टी करा दी थी बंद

बताया जा रहा है कि बुधवार रात को हॉस्टल में एक सीनियर छात्रा के बर्थ-डे की पार्टी चल रही थी। तब सृष्टि राय अपने कमरे से निकलकर उनके पास पहुंच गई और कहा कि पढ़ने में डिस्टर्ब हो रहा है। इसके बाद पार्टी बंद हो गई। पुलिस ने हॉस्टल की छात्राओं से भी बातचीत की तो पता चला कि वह ज्यादा किसी से बातचीत नहीं करती थी। यहां तक की बगल के कमरों में रहने वाली लड़कियों से भी ज्यादा नहीं बोलती थी।

सृष्टि राय के 5वें सेमेस्टर के एग्जाम 13 जनवरी से शुरू हुए थे। वह 13 को माइक्रोकंट्रोलर और 16 जनवरी को एनालॉग का पेपर दे चुकी थी। 19 जनवरी की सुबह 9 बजे उसे एंटीना का पेपर देने जाना था। उससे पहले ही उसने सुसाइड कर लिया।

सुबह मां ने पेपर के लिए जगाने को फोन लगाया तो कॉल रिसीव नहीं की। तब मां ने वार्डन को कॉल लगाया। वार्डन ने आवाज लगाई तो गेट नहीं खोला। फिर सिक्योरिटी गार्ड को बुलाया गया। गेट धक्का देकर खोला तो पंखे पर छात्रा लटकी हुई थी।

सृष्टि राय गोरखपुर के धर्मपुर के शाहपुर की रहने वाली थी। वह झांसी बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी से बीटेक कर रही थी। उसके कमरे से एक सुसाइड नोट मिला है। इसमें लिखा है- मां, पापा, दीदी, भैया आई लव यू।

में छात्रा ने मां को सॉरी कहा है। सिर्फ यही नहीं, सुसाइड नोट में रॉल नंबर और सेमेस्टर का भी जिक्र किया है। छात्रा के परिजन देर रात तक झांसी पहुंच गए है। आज छात्रा का पुलिस पोस्टमॉर्टम कराएगी।

मोबाइल कब्जे में लिया, जांच जारी- DIG

DIG जोगेंद्र कुमार ने बताया कि छात्रा के सुसाइड की सूचना पर पुलिस पहुंची थी। कमरे से छात्रा का मोबाइल बरामद किया है। मोबाइल के डेटा को रिकवर कराया जाएगा। इसके अलावा कुछ नोट्स, कॉपी भी मिली हैं। इसकी हैंड राइटिंग मैच कराएंगे। मौके से मिले सबूतों के आधार पर जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Required fields are marked *