हरियाणा रोडवेज के ड्राइवर-कंडक्टर को भूले ऋषभ पंत:जलती कार से इन्होंने ही सबसे पहले बाहर निकाला,लोगों ने क्रिकेटर के ट्वीट पर दिलाया याद

हरियाणा रोडवेज के ड्राइवर-कंडक्टर को भूले ऋषभ पंत:जलती कार से इन्होंने ही सबसे पहले बाहर निकाला,लोगों ने क्रिकेटर के ट्वीट पर दिलाया याद

भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर बैट्समैन ऋषभ पंत 30 दिसंबर 2022 की सुबह रुड़की में हुए एक्सीडेंट में गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसे के बाद से हर कोई ऋषभ पंत के जल्द स्वस्थ होने की कामना कर रहा है।

इसी बीच 16 जनवरी की रात 8:16 बजे पंत ने एक ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने उन 2 युवकों का धन्यवाद किया, जिन्होंने उन्हें हादसे के बाद एम्बुलेंस से अस्पताल तक पहुंचाया था। मगर पंत हरियाणा रोडवेज के उन ड्राइवर व कंडक्टर को भूल गए, जिन्होंने उन्हें जलती मर्सिडीज से निकाला। फिर एंबुलेंस मंगवाकर उसमें अस्पताल भिजवाया। सबसे पहले यही लोग पंत की जान बचाने वालों में शामिल थे।

हरियाणा रोडवेज के ड्राइवर सुशील और कंडक्टर परमजीत ने बस रोककर पंत को पानी पिलाया। पीठ पर चोट थी तो छाती के बल लिटाया। कपड़े फटने-जलने के बाद कंबल दिया। पंत के ट्वीट के बाद उनके फैन उन्हें हरियाणा रोडवेज के इन बहादुर ड्राइवर-कंडक्टर के बारे में याद दिला रहे हैं।

ऋषभ पंत के पहले दो ट्वीट

कार एक्सीडेंट में घायल हुए भारतीय क्रिकेट टीम के विकेटकीपर ऋषभ पंत ने हादसे के बाद सोशल मीडिया पर अपनी पहली पोस्ट की है। घुटने की सफल सर्जरी के बाद अपनी पोस्ट में उन्होंने फैंस को धन्यवाद कहा है। 25 साल के पंत ने पोस्ट में लिखा, आप सभी के सपोर्ट के लिए धन्यवाद।

मुझे आपको बताते हुए खुशी हो रही है कि मेरी सर्जरी सफल रही। मैं जल्द ही रिकवर होने की ओर ध्यान दे रहा हूं। उन्होंने यह भी लिखा, मैं रिकवरी चैलेंज के लिए तैयार हूं। मुश्किल दौर में सपोर्ट करने के लिए BCCI, जय शाह और भारत सरकार का धन्यवाद।

तीसरे ट्वीट में कहा- रजत और निशु का ऋणी रहूंगा

ऋषभ पंत ने एक के बाद एक 3 पोस्ट किए। उन्होंने अपने आखिरी पोस्ट में एक्सीडेंट के बाद मदद करने वाले रजत और निशु नाम के युवकों को याद किया। पंत ने लिखा- हो सकता है कि मैं पर्सनली सभी का शुक्रिया अदा नहीं कर पाऊं, लेकिन मुझे इन 2 हीरो को धन्यवाद कहना होगा। जिन्होंने हादसे के बाद मेरी मदद की और मुझे सुरक्षित अस्पताल पहुंचाया। रजत कुमार और निशु कुमार, धन्यवाद। मैं हमेशा आपका आभारी और ऋणी रहूंगा।

लोगों ने यह किए कमेंट

इस पर एक यूजर नीरज चौहान ने लिखा कि आपको हरियाणा रोडवेज बस ड्राइवर और कंडक्टर का सबसे पहले धन्यवाद करना चाहिए। उन्होंने आपकी जिंदगी बचाई है। जिनका आप धन्यवाद कर रहे हैं, ये दोनों बाद में आए थे। आपको ट्वीट में ड्राइवर-कंडक्टर को मेंशन करना चाहिए।

वहीं मेनपाल चौहान नाम के यूजर ने लिखा कि इन दोनों बच्चों का धन्यवाद, लेकिन हरियाणा रोडवेज के कर्मचारियों को भूल गए आप। उन्होंने गाड़ी से बाहर निकाला आपको। जब आप बेहोश थे और गाड़ी में ही जल सकते थे। उनकी गलती यही है वो आपको पहचानते नहीं थे और बस की सवारियों की जिम्मेदारी भी थी उन पर। उनको भी धन्यवाद बोल सकते थे आप।

VVS लक्ष्मण और उत्तराखंड-हरियाणा CM ने जताया था आभार

पंत की जान बचाने वाले ड्राइवर कंडक्टर को मशहूर पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने रियल हीरो बताया था। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि इन दोनों ने गोल्डन ऑवर में पंत की मदद की। इसके बाद हरियाणा के CM मनोहर लाल ने भी दोनों की तारीफ की। उत्तराखंड के DGP ने दोनों को गुड समैरिटन और उत्तराखंड के CM पुष्कर धामी ने उन्हें 26 जनवरी पर सम्मानित करने की घोषणा की।




Leave a Reply

Required fields are marked *