मुख्य स्नान पर्व के एक दिन पहले का माघ:प्रयागराज के ऐतिहासिक मेले का अद्भुत नजारा

मुख्य स्नान पर्व के एक दिन पहले का माघ:प्रयागराज के ऐतिहासिक मेले का अद्भुत नजारा

प्रयागराज में पौष पूर्णिमा के स्नान पर्व के बाद पहला मुख्य स्नान पर्व मकर संक्रांति 14 जनवरी को है। ट्रैफिक डायवर्जन आज से ही लागू कर दिया गया है। प्रयागराज जंक्शन के सिविल लाइंस साइड से प्रवेश वर्जित कर दिया गया है। भारी वाहनों का प्रवेश भी शहर में आज से ही बंद कर दिया गया है। माघ मेले में भी शनिवार की सुबह से प्राइवेट वाहनों के प्रवेश पर रोक रहेगी।

 मकर संक्रांति से पूर्व इन्हीं व्यवस्थाओं का जायजा लेने माघ मेला पहुंची। व्यवस्थाओं की पड़ताल की। मकर संक्रांति के एक दिन पूर्व इस ऐतिहासिक तंबुओं के नगर की व्यवस्थाओं और माघ मेले को तस्वीरों और वीडियो में कैद किया

मकर संक्रान्ति पर ऐसी रहेगी यातायात व्यवस्था

13 जनवरी की शाम 20 बजे से 15 जनवरी को अपराह्न दो बजे तक या भीड़ समाप्ति तक संगम क्षेत्र में प्रशासनिक/चिकित्सीय वाहनों के अतिरिक्त सभी प्रकार के वाहनों के प्रवेश पर रोक रहेगी।

माघ में आने वाले श्रद्धालुओं के वाहन यहां पार्क होंगे

प्लाट नंबर 17 पार्किंग

गल्ला मण्डी दारागंज पार्किंग

हेलीपैड पार्किंग

काली सड़क पर यातायात पुलिस लाइन के सामने व बगल में बनी पार्किंग

ओल्ड जी.टी. कछार पार्किंग

मेला क्षेत्र में श्रद्धालुओं के लिए पार्किंग

मिर्जापुर- रीवा की ओर से आने वाले समस्त दो पहिया व चार पहिया वाहनों को लेप्रोसी चौराहे के बगल में नवप्रयागम पार्किंग में पार्क कराया जाएगा।

जौनपुर-वाराणसी की ओर से आने वाले वाहनों को कटका तिराहे से डायवर्जन कर चीनी मिल पार्किंग में पार्क कराया जाएगा।

कानपुर की ओर से आने वाले वाहनों को सीएमपी डिग्री कालेज,केपी इंटर कालेज व बक्शी बांध कछार पार्किंग में पार्क कराया जाएगा।

मेला क्षेत्र में पैदल आने वाले श्रद्धालुओं के लिए रूट

संगम आने का पैदल मार्ग- संगम आने वाले श्रद्धालुओं/स्नानार्थियों को जीटी जवाहर से प्रवेश कर काली सड़क आकर काली रैम्प से होते हुए संगम अपर मार्ग से संगम तक जा सकेंगे।

संगम से वापसी का पैदल मार्ग- संगम क्षेत्र से अक्षयवट मार्ग से होते हुए इण्टर लाकिंग मार्ग से जगदीश रैम्प मार्ग एवं त्रिवेणी मार्ग चौराहे से वापस परेड क्षेत्र में स्थित पार्किंग स्थल पहुंच सकेंगे।

उल्लेखनीय है कि संगम मेला क्षेत्र में जाने हेतु प्रवेश मार्ग जीटी जवाहर चौराहे से एवं निकास मार्ग हर्षवर्धन चौराहे से प्रस्तावित है।

प्रमुख स्नान पर्व पर अक्षयवट दर्शन के लिए बन्द रहेगा और सामान्य दिनों में सुबह 7 बजे से शाम 17.30 बजे तक खुलेगा।


Leave a Reply

Required fields are marked *