मुझे निपटाना चाहते हैं कांग्रेस के ही नेता:मंत्री बोले- जीता तो मेन कुर्सी सिविल लाइन के हाथ, कांग्रेस-बीजेपी दोनों आएंगे मुझे मारने

मुझे निपटाना चाहते हैं कांग्रेस के ही नेता:मंत्री बोले- जीता तो मेन कुर्सी सिविल लाइन के हाथ, कांग्रेस-बीजेपी दोनों आएंगे मुझे मारने

कांग्रेस में नेताओं के बीच जारी सियासी घमासान की गूंज अब फील्ड में भी सुनाई देनी शुरू हो गई है। खाद्य मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने पिछले दिनों सिविल लाइंस के एक कार्यक्रम में लोगों के सामने खुद के सीएम बनने की संभावनाएं बताते हुए चुनाव जितवाने की अपील की।

साथ ही खाचरियावास ने लोगों से मदद की अपील करते हुए कहा-कि इस बार कांग्रेस और बीजेपी दोनों मुझे मारने आएंगे। खाचरियावास का लोगों के बीच भाषण देते हुए एक ऑडियो भी सामने आया है। इसमें उन्होंने कांग्रेस में अपने विरोधियों को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा कि- मैंने जो लोगों के बीच कहा है, सोच समझकर ही कहा है।

खाद्य मंत्री ने लोगों से कहा- अब बड़ी लड़ाई चालू होगी। आपसे हाथ जोड़कर, झुककर रिक्वेस्ट कर रहा हूं। मैं पंजे पर चुनाव लड़ूंगा। इस बार पहला चुनाव ऐसा होगा, जिसमें बीजेपी और कांग्रेस दोनों मुझे मारने आएंगे। क्योंकि मैं लोगों की आंखों में चुभ रहा हूं। कांग्रेस में बहुत से नेता ऐसे हैं, जो चाहते हैं कि प्रताप सिंह को निपटाए।

मैं जीता तो राजस्थान की मेन कुर्सी सिविल लाइन के हाथ में होगी

प्रताप सिंह ने कहा- सब जानते हैं, नया दौर शुरू हो जाएगा। उस दौर में मैं किसी से पीछे नहीं हूं। मुझे राजनीति आती है। मुझे सब जानते हैं। पूरे देश में लोग मुझे जानते हैं। कोई कहता है कि हमारे यहां सिविल लाइन से प्रताप सिंह एमएलए है। लोग कहते- हम जानते हैं, 200 एमएलए हैं। सबको कौन जानता है, लेकिन भगवान की कृपा से मुझे सब जानते हैं। मैं अगर जीता तो राजस्थान की मेन कुर्सी सिविल लाइन के हाथ में होगी, लेकिन आपके बिना नहीं जीत पाऊंगा ।

मैं कांग्रेस की सरकार से भी लड़ता हूं

खाचरियावास ने कहा- आप मुझे बता दीजिए, मुझे 10 बार फोन किया। मैं भाग कर आ गया। कोई नहीं आएगा। मेरा नंबर मैंने सबको दे रखा है। चुनाव में मैं सबको नंबर बांट रहा था। मैं फोन नहीं उठाता हूं तो 4 बार करो ,मीटिंग में हूं तो बाद में बात कर लूंगा, लेकिन सुन लूंगा जरूर।

लोग मेरे बारे में जानते हैं। मैं जो कहता हूं, करता हूं। मैं कांग्रेस की सरकार से भी लड़ता हूं। सच के लिए हमेशा बोलता हूं, मैं परवाह नहीं करता हूं, जहां सच है वहां प्रताप सिंह जरूर खड़ा रहेगा। यह बात याद रखना।

मैं बच्चा हूं अशोक गहलोत के सामने

खाचरियावास ने कहा- मेरी सरकार में भी लोगों को तकलीफ होती है। अखबारों में पढ़ते होंगे बहुत मामले ऐसे होते हैं, इनमें चीफ मिनिस्टर अलग बोलते हैं।

मैं अलग बोलता हूं। कोई बोल जाए अशोक गहलोत के सामने, मैं बच्चा हूं। उनकी इतनी उम्र है, लेकिन फिर भी मैं स्टैंड लेता हूं।

इसलिए आपसे हाथ जोड़कर रिक्वेस्ट है। आप मेरी मदद करना। चारों तरफ से इस बार ज्यादा घेरेंगे। मैं अकेला हूं, लेकिन लोगों का प्यार मेरे साथ है।

आप मेरी मदद करना। आपकी मदद सिविल लाइन का इतिहास बना सकती है। ये मुझे घेरेंगे, यहीं पटक दो, ऊपर झगड़ा ही नहीं होगा।

खाचरियावास ने कहा- पिछली बार किसी ने बीजेपी को वोट दिया है तो इस बार मेहरबानी करके मुझे ही दे देना। आप मेरे बारे में पता करवाना। मैं किसी से डरता नहीं हूं। मैं क्या करूं, चुनाव में चारों तरफ से घेर लेते हैं।

यूनिवर्सिटी चुनावों में किसी से नहीं डरता था। अभी बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया हैं, उन्हें हराया था। आप यह चुनाव निकलवा दोगे तो खेल बदल जाएगा, आप मेरी मदद कीजिए।

खाचरियावास बोले- मैंने जो कहा,वह सोच समझकर कहा

सिविल लाइंस में लोगों के सामने दिए गए इस भाषण पर जब प्रताप सिंह खाचरियावास से पूछा गया तो कहा- यह जो सारी बातें ऑडियो वीडियो देख रहे हैं।

मैंने किस मीटिंग में किस संदर्भ में बातें कहीं, वह उस वक्त की स्थिति पर निर्भर करता है। जो कहा मैंने सोच समझकर कहा होगा।

दुनिया जानती है कि मैं अगला चुनाव कांग्रेस पार्टी से लडूंगा। कांग्रेस पार्टी का कार्यकर्ता हूं। कांग्रेस ने मुझे बहुत कुछ दिया है। उस मीटिंग में बोलने का क्या कारण था कौन उस मीटिंग में था, क्या परिस्थिति है। उस पर निर्भर करता है।

जब आप वोटर के बीच में जा रहे हो। जिस वार्ड में जो हालात हैं। चुनाव नजदीक आने लगता हैं तो वोटर को सावधान कर देना चाहिए। आपके साथ कदम से कदम मिलाकर चलने वाले लोगों को सावधान कर देना चाहिए। कोई कांग्रेस का नाम लेकर भी आ रहा है।

उससे सावधान हो जाओ। कांग्रेस का आदमी वही है। जो पंजा लेकर आ रहा है। मैंने यह भी कहा होगा कि लडूंगा कांग्रेस से, पर कोई व्यक्ति कांग्रेस का बनकर आ रहा है। कांग्रेस वालों का विरोध कर रहा है। इसलिए सावधान रहने की जरूरत है।


Leave a Reply

Required fields are marked *