दिल्ली हादसा;निधि ड्रग केस में गिरफ्तार हो चुकी है:2020 में तेलंगाना से गांजा लेकर गई थी आगरा,अभी बाहर है जमानत पर

दिल्ली हादसा;निधि ड्रग केस में गिरफ्तार हो चुकी है:2020 में तेलंगाना से गांजा लेकर गई थी आगरा,अभी बाहर है जमानत पर


दिल्ली के कंझावला हादसे में एक बड़ा खुलासा हुआ है। दिल्ली पुलिस ने बताया है कि स्कूटी पर अंजलि के पीछे बैठी निधि NDPS एक्ट के तहत ड्रग्स केस में गिरफ्तार हो चुकी है। वह 6 जनवरी 2020 को तेलंगाना से गांजा लेकर आगरा रेलवे स्टेशन पहुंची थी, जहां उसे पकड़ा गया था। निधि के साथ समीर और रवि नाम के दो लड़के भी गिरफ्तार हुए थे। फिलहाल निधि जमानत पर बाहर है।

रिपोर्ट के मुताबिक, निधि और उसके साथी आगरा स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर 3 पर एक बेंच पर बैठे हुए थे। वे पुलिस को देखकर घबरा गए और तुरंत अपना बैग लेकर भागने लगे। रोकने पर भी नहीं रुके। इसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया। तीनों ने ही बैग में गांजा होने की बात को स्वीकारा था।

अंजलि के परिवार को मिलेंगे 10 लाख रुपए

दिल्ली के कंझावला हादसे में जान गंवाने वाली अंजलि के परिवार को 10 लाख रुपए मिलेंगे। शुक्रवार शाम दिल्ली सरकार ने इस सहायता राशि को मंजूरी दी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अंजलि की दर्दनाक मौत ने पूरे देश को झकझोर दिया। इसकी भरपाई नहीं की जा सकती।

उधर, छठे आरोपी आशुतोष की गिरफ्तारी के बाद सातवें आरोपी अंकुश खन्ना ने सुल्तानपुरी थाने में सरेंडर कर दिया। अब सभी आरोपी पुलिस हिरासत में हैं। इनसे पूछताछ की जा रही है।

निधि-अंजलि के साथ स्कूटी पर एक लड़का भी दिखा

हादसे से पहले के दो वीडियो शुक्रवार शाम को सामने आए। मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया जा रहा है कि पहले वीडियो में एक लड़का स्कूटी चलाता दिख रहा है, पीछे निधि और अंजलि बैठी हैं। यह लड़का इन्हें गली के बाहर छोड़ देता है। अंजलि के हाथ में मोबाइल है और वो कुछ देर लड़के से बात भी करती है।

वहीं, दूसरे वीडियो में गली से निकलकर अंजलि और निधि आती दिख रही हैं, लेकिन अब लड़का साथ में नहीं है। अंजलि और निधि एक साथ जाती दिख रही हैं। निधि पीछे बैठी है, जबकि अंजलि स्कूटी चला रही है।

उधर, पुलिस के हवाले से शुक्रवार को मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया कि अंजलि को घसीटने के दौरान कार में 5 नहीं 4 आरोपी मौजूद थे। दीपक नाम का आरोपी घर में था, लेकिन उसने शुरुआती जांच में पुलिस को बताया कि कार वह चला रहा था।

पुलिस के मुताबिक कार चलाने वाले आरोपी का नाम अमित है और उसके पास ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है। गाड़ी से अंजलि का एक्सीडेंट होता है। इसके बाद वह अपने दोस्त दीपक के पास पहुंचकर सारी घटना बताता है। लाइसेंस न होने की बात सुनकर दीपक गाड़ी चलाने की जिम्मेदारी अपने ऊपर ले लेता है। इस बीच दिल्ली पुलिस हादसे की चश्मदीद निधि से आज पूछताछ कर रही है। उसे सुबह घर से हेडक्वार्टर ले जाया गया।

सवाल- हादसे के दिन कार में कौन-कौन लोग मौजूद थे

पुलिस ने 1 जनवरी को मनोज मित्तल, अमित खन्ना, कृष्ण, मिथुन और दीपक खन्ना को गिरफ्तार किया था। कोर्ट ने इन्हें पुलिस कस्टडी में भेज दिया। पुलिस ने चार दिन की जांच के बाद 5 जनवरी को बताया कि इस केस में दो और लोग शामिल हैं। इनका नाम अंकुश खन्ना और आशुतोष हैं। आशुतोष को गिरफ्तार कर लिया गया। सातवां आरोपी अंकुश खन्ना अभी फरार है।

अब पुलिस क्या कह रही है

अब पुलिस कह रही है कि घटना वाली रात को कार में 4 लोग मनोज मित्तल, अमित खन्ना, कृष्ण और मिथुन थे।

दिल्ली सरकार ने मुआवजे के 10 लाख रुपए मंजूर किए।

शुक्रवार शाम सातवें आरोपी अंकुश खन्ना ने दिल्ली के सुल्तानपुरी थाने में सरेंडर कर दिया।

पुलिस ने मामले की गवाह निधि को जांच में शामिल होने के लिए बुलाया है।

पांचों आरोपियों का शुक्रवार की रात को संजय गांधी मेडिकल कॉलेज में मेडिकल टेस्ट किया गया।

दिल्ली की रोहिणी कोर्ट ने गुरुवार को 5 आरोपियों की पुलिस कस्टडी 4 दिन के लिए बढ़ा दी है।

24 घंटे में 3 और वीडियो सामने आए...

31 दिसंबर की रात के 3 और वीडियो पिछले 24 घंटे में सामने आए हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि पुलिस को वारदात रूट के 23 वीडियो मिले हैं। इन्हीं को आधार बनाकर आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

Leave a Reply

Required fields are marked *