सचिन को याद आए द्रोणाचार्य: बोले- मैं आपको हर दिन याद कर सलाम करता हूं

सचिन को याद आए द्रोणाचार्य: बोले- मैं आपको हर दिन याद कर सलाम करता हूं

नई दिल्‍ली: सचिन रमेश तेंदुलकर के क्रिकेट का भगवान बनने तक के सफर में एक शख्‍स का अहम किरदार रहा है. वह है रमाकांत आचरेकर, जिनकी 2 जनवरी को पुण्यतिथि है. सचिन अपने गुरु को याद कर के भावुक हो गए. आचरेकर को याद करते हुए उन्‍होंने सोशल मीडिया पर अपने जज्‍बात शेयर किए.

सचिन ने ट्विटर पर रमाकांत आचरेकर के साथ अपनी एक फोटो शेयर करते हुए लिखा,  उन्होंने मुझे तकनीक, अनुशासन और सबसे खास खेल का आदर करना सीखाया. मैं उन्हें हर दिन याद याद करता हूं. आज उनकी पुण्यतिथि है. मैं अपने जीवन के द्रोणाचार्य को सलाम करता हूं. बिना उनके मैं इस तरह का क्रिकेटर नहीं बन पाता. सचिन कई इंटरव्यू में यह कह चुके हैं अगर रमाकांत आचरेकर न होते तो उनका क्रिकेट करियर इस तरह का नहीं होता है. आचरेकर का 2 जनवरी 2019 को निधन हो गया था. मास्‍टर ब्‍लास्‍टर ने 2013 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. हालांकि, आज भी कई रिकॉर्ड उनके ही नाम पर दर्ज हैं. सचिन ने 100 शतकों के साथ 34,357 अंतरराष्ट्रीय रन बनाए हैं.

सोशल मीडिया पर रहते हैं एक्टिव

सचिन तेंदुलकर सोशल मीडिया पर खासे एक्टिव रहते हैं. कुछ दिनों पहले उन्‍होंने इंस्‍टाग्राम पर एक वीडियो पोस्‍ट किया था जिसमें वह थाईलैंड में पूरी मस्ती के मूड में थे. इसमें वह कायकिंग (Kayaking) की ट्रेनिंग लेते हुए दिखाई देते हैं. इसके बाद उन्‍होंने एक और वीडियो शेयर किया जिसमें वह कड़ाके की ठंड में जमीन पर बैठकर देशी व्यंजनों का आनंद उठा रहे हैं. राजस्‍थान के बताए जा रहे इस वीडियो में 2 महिलाएं देशी तरीके से चूल्हे पर रोटियां पका रही हैं. सचिन उनके पास पहुंचते हैं और कहते हैं कि मैंने आने का वादा किया था, इसलिए आ गया. सचिन उनसे पूछते हैं कि क्या पका रही हैं? महिलाएं बताती हैं कि बाजरे और गेहूं की रोटी बना रहे हैं. इस पर सचिन कहते हैं, मुझे भी खाना बनाना आता है लेकिन, मेरी रोटियां गोल नहीं बन पातीं. यह सुनकर महिलाएं हंसने लगती हैं.

Leave a Reply

Required fields are marked *