एंट्री नहीं एक IPL परफॉर्मेंस से टीम इंडिया में:BCCI बोला- फ्रेंचाइजी वर्कलोड मैनेज करें, NCA साथ मिलकर काम करे

एंट्री नहीं एक IPL परफॉर्मेंस से टीम इंडिया में:BCCI बोला- फ्रेंचाइजी वर्कलोड मैनेज करें, NCA साथ मिलकर काम करे

किसी क्रिकेटर के टीम इंडिया में सिलेक्शन का आधार सिर्फ एक IPL सीजन का प्रदर्शन नहीं होगा। BCCI ने रविवार को 4 घंटे चली रिव्यू मीटिंग में यह स्पष्ट कर दिया है। मीटिंग में खिलाड़ियों के वर्कलोड, उनकी फिटनेस और टेस्ट पर भी चर्चा की गई।

BCCI ने IPL फ्रेंचाइजियों को साफ कहा है कि वे खिलाड़ियों के वर्कलोड का मैनेजमेंट करें। नेशनल क्रिकेट अकादमी (NCA) को बोर्ड ने आदेश दिया है कि वो इस मसले पर फ्रेंचाइजियों के साथ काम करे और कड़ी नजर रखे।

इस मीटिंग में टी-20 वर्ल्ड कप की हार की समीक्षा हुए। 2023 वर्ल्ड कप की तैयारियों पर बड़े फैसले लिए गए। इन फैसलों को सवाल-जवाब में समझिए

IPL के संबंध में फैसला क्या और क्यों है?

BCCI ने नेशनल सिलेक्टर्स से कहा कि किसी भी खिलाड़ी को सिर्फ एक शानदार IPL सीजन के आधार पर नेशनल टीम में न चुना जाए। सिलेक्टर्स यह भी ध्यान में रखें कि IPL के अलावा क्रिकेटर ने घरेलू क्रिकेट में भी अच्छा प्रदर्शन किया हो। बोर्ड जसप्रीत बुमराह, रोहित शर्मा और रवींद्र जडेजा जैसे स्टार परफॉर्मर्स की चोटों को लेकर भी फिक्रमंद है। इसीलिए IPL फ्रेंचाइजियों को वर्कलोड मैनेजमेंट और खिलाड़ियों की फिटनेस पर नजर रखने का फरमान सुनाया है।

भारतीय टीम 2011 के बाद से वर्ल्ड कप टाइटल नहीं जीत सकी है। 2013 के बाद टीम ने कोई ICC ट्रॉफी पर भी कब्जा नहीं किया है। इसीलिए बोर्ड ने 2023 वर्ल्ड कप को नजर में रखते हुए यह फैसला लिया।

बोर्ड के फैसले का IPL पर क्या असर होगा?

BCCI के फैसले से IPL फ्रेंचाइजियों की मुश्किल बढ़ जाएगी। वर्कलोड मैनेजमेंट और फिटनेस पर नजर रखने का मतलब यह है कि 2023 IPL में कई स्टार्स या तो रोटेड होंगे या फिर उन्हें बीच-बीच में रेस्ट भी दिया जाएगा।

सूत्रों के मुताबिक गुजरात टाइटंस के कप्तान हार्दिक पंड्या, चेन्नई के रवींद्र जडेजा, मुंबई इंडियंस के रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह को सशर्त IPL खेलने की मंजूरी दी गई है। क्योंकि ये चारों ही खिलाड़ी 2023 वनडे वर्ल्ड कप के लिए बेहद अहम हैं।

फ्रेंचाइजियों की इस फैसले पर क्या राय है?

IPL फ्रेंचाइजियों के ऑफिशियल्स ने कहा, प्लेयर्स IPL को शानदार बनाते हैं न कि उनकी फ्रेंचाइजी। ऐसे में उनका ध्यान रखना जरूरी है। कोई भी दूसरा चोटिल दीपक चाहर या श्रेयस अय्यर नहीं चाहता है, जो पूरे सीजन से बाहर रहे। ऐसे खिलाड़ी IPL ब्रांड के लिए जरूरी हैं। हमें उनके वर्कलोड पर ध्यान देना होगा, ताकि वे चोटिल न हों। ऐसे में उन्हें आराम देना और बहुत एहतियात से मैचों में उनका इस्तेमाल जरूरी होगा।

IPL में किन खिलाड़ियों का प्रदर्शन बेहतर रहा और वो इंटरनेशनल में फेल हुए?

राहुल चाहर, वरुण चक्रवर्ती, शिवम दूबे, देवदत्त पडिक्कल, वेंकटेश अय्यर और अवेश खान का IPLमें शानदार प्रदर्शन था। इसके बाद ही टीम में जगह दी गई। ये खिलाड़ी उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे। आज ये खिलाड़ी कहीं भी तस्वीर में नहीं हैं। इनमें से राहुल चाहर और वरुण चक्रवर्ती 2021 में हुए टी-20 वर्ल्ड कप में भी टीम का हिस्सा थे, पर आज वह गायब हैं। सूर्य कुमार यादव, ईशान किशन, अर्शदीप सिंह और दीपक हुड्‌डा और ऋतुराज गायकवाड़ जैसे खिलाड़ियों को मौका मिला तो इन्होंने जगह पक्की कर ली। IPL के साथ-साथ घरेलू टूर्नामेंट में भी इनका प्रदर्शन शानदार था।

Leave a Reply

Required fields are marked *