Ranji Trophy: संजू सैमसन के साथी ने दिखाया गेंद और बल्ले से दम, 5 गेंद में टीम को दिलाई जीत

Ranji Trophy: संजू सैमसन के साथी ने दिखाया गेंद और बल्ले से दम, 5 गेंद में टीम को दिलाई जीत

नई दिल्ली: रणजी ट्रॉफी के एक मुकाबले में असम ने अपने से मजबूत माने जाने वाली टीम हैदराबाद को आखिरी दिन 18 रन से हरा दिया. इस मैच में असम की जीत के हीरो रहे संजू सैमसन के राजस्थान रॉयल्स टीम में साथी खिलाड़ी रियान पराग. रियान ने मैच में गेंद और बल्ले दोनों से कमाल का प्रदर्शन किया और असम को जीत दिलाने में अहम रोल निभाया. हैदराबाद को जीत के लिए 250 रन बनाने थे. लेकिन, रियान पराग की धारदार गेंदबाजी के कारण हैदराबाद की टीम 231 रन ढेर हो गई और मैच 18 रन से हार गई.

इससे पहले, तीसरे दिन का खेल खत्म होने पर हैदराबाद ने 9 विकेट के नुकसान पर 228 रन बना लिए थे. उसे चौथे और आखिरी दिन 22 रन और चाहिए थे और एक ही विकेट बाकी था. पराग ने कार्तिकेय काक को आउट कर असम को जीत दिलाई. हैदराबाद के लिए कप्तान तन्मय अग्रवाल ने अकेले किला लड़ाया. उन्होंने 126 रन की नाबाद पारी खेली. वो ओपनिंग करते थे और नाबाद ही लौटे. तन्मय ने अपनी 126 रन की पारी में 12 चौके और 1 छक्का जमाया. रियान ने दूसरी पारी में 25.5 ओवर में 93 रन देकर 4 विकेट झटके.

रियान पराग ने मैच में कुल 8 विकेट लिए

पराग ने पहली पारी में भी अच्छी गेंदबाजी की थी और 48 रन देकर 4 विकेट हासिल किए थे. पहली पारी में तो उनका बल्ला ज्यादा नहीं चला. वो 10 रन बनाकर आउट हो गए थे. लेकिन, असम के लिए दूसरी पारी में उन्होंने दमदार बल्लेबाजी की और महज 28 गेंद में 8 चौके और 6 छक्के की मदद से 78 रन ठोक डाले थे. उनकी इसी पारी की बदौलत ही असम ने दूसरी पारी में 252 रन बनाए थे. रियान ने मैच में 88 रन बनाने के साथ कुल 8 विकेट झटके. उन्हें प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया.

रणजी ट्रॉफी के इस मैच में असम ने पहली पारी में 205 रन बनाए थे. इसके जवाब में हैदराबाद ने अपनी पहली पारी 208 रन पर खत्म की थी. इसके बाद असम ने दूसरी पारी में 252 रन बनाए. इस तरह, हैदराबाद टीम को जीत के लिए 250 रन का टारगेट मिला था, जिसे वो हासिल नहीं कर पाई.

Leave a Reply

Required fields are marked *