गुढ़ा बोले- पेपरलीक कांड सरकार की विफलता बड़ी :मंत्री ने कहा- मिली भगत के बिना यह संभव नहीं; सच है- हम एग्जाम करा नहीं सकते

गुढ़ा बोले- पेपरलीक कांड सरकार की विफलता बड़ी :मंत्री ने कहा- मिली भगत के बिना यह संभव नहीं; सच है- हम एग्जाम करा नहीं सकते

सीनियर टीचर भर्ती परीक्षा का पेपर लीक होने के मामले में अब विपक्ष के बाद ग्रामीण विकास राज्य मंत्री राजेंद्र सिंह गुढ़ा ने अपनी ही सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा, पेपरलीक कांड सरकार की विफलता है। यह सरकार की जिम्मेदारी है, यह हमारा फेलियर है कि हम फेयर एग्जाम नहीं करवा पा रहे हैं। पेपर आउट हो रहे हैं, कार्रवाई नहीं कर पा रहे हैं। बच्चों के अंदर भयंकर निराशा है।

गुढ़ा जयपुर के बिरला ऑडिटोरियम में मीडिया से बातचीत कर रहे थे। मंत्री ने कहा, सरकार के सारे काम एक तरफ और पेपर लीक दूसरी तरफ। सरकार के अब तक के सारे कामों को अकेला पेपर आउट प्रकरण खा जाएगा। सरकार और हमारी मिलीभगत, बिना प्रोटेक्शन के हम फेल नहीं हो सकते। जांच कहीं से भी हो, लेकिन हम फेल हो गए।

जब हम सही तरीके से पेपर नहीं करवा सकते तो यह सही नहीं है। हमारे प्रदेश के जो बच्चे हैं, जो तैयारी कर रहे हैं, उनमें निराशा का भाव आ गया है। पूरी तरह निराशा का भाव आ गया। कहीं न कहीं लीकेज तो है। सच तो यही है कि हम पेपर नहीं करवा सकते।

हम एक भी परीक्षा ठीक तरीके से नहीं करवा पा रहे

गुढ़ा ने कहा- पेपर आउट होना हमारे लिए खतरनाक है। हमारे पेपर बार-बार आउट हो रहे हैं, हम एक भी परीक्षा ठीक तरीके से नहीं करवा पा रहे, सच यह है कि हम फेल हो गए। सरकार रिपीट करने के सवाल पर गुढ़ा ने कहा कि जिस तरह पेपर आउट हो रहे हैं, उसमें तो मुश्किल ही लग रहा है।

खबर में आगे बढ़ने से पहले नीचे दिए गए पोल में हिस्सा लेकर आप अपनी राय जाहिर कर सकते हैं।

हमने कांग्रेस जॉइन की, किसी व्यक्ति को नहीं

कांग्रेस प्रभारी रंधावा के फीडबैक के सवाल पर गुढ़ा ने कहा- रंधावा जी अच्छे आदमी हैं, दिल से बोलते हैं। उनको सुनकर अच्छा लगा, जमीन से जुड़े आदमी हैं, शायद कुछ कर सकें। पायलट को सीएम बनाने और समर्थन के सवाल पर गुढ़ा ने कहा कि हम बसपा से आने वाले छह विधायकों ने कांग्रेस जॉइन की थी, किसी व्यक्ति को जॉइन नहीं किया था। कांग्रेस हाईकमान जो फैसला करेगा, हम उस फैसले के साथ हैं। सचिन पायलट उर्जावान नेता हैं, कांग्रेस में ऐसे नेता बचे कहां हैं?

सीनियर टीचर भर्ती के सामान्य ज्ञान (GK) के पेपर लीक का खुलासा होने के बाद बड़ा सवाल खड़ा हो गया है-

क्या सीनियर टीचर के 4 और पेपर आउट हुए थे?

ये सवाल इसलिए क्योंकि 20 और 22 दिसंबर को भी नकल वाली बस जालोर से उदयपुर आई थी। 21 दिसम्बर को ग्रुप-ए का सामान्य ज्ञान (GK) और सोशल साइंस का पेपर था। 23 दिसम्बर को उर्दू व अंग्रेजी का पेपर हुआ था। ऐसे में इन एग्जाम के भी पेपर आउट को लेकर आशंका जताई जा रही है।

भास्कर ने मामले को इन्वेस्टिगेट किया तो दोनों दिन टोल पर बस के फुटेज मिले। इसी बस में पुलिस ने 24 दिसंबर को जीके का पेपर सॉल्व करते हुए 49 लोगों को पकड़ा था। इतना ही नहीं होटल से नकल करते पकड़े गए अभ्यर्थी भी इसी बस से आए थे।

बस कब-कब और किन रास्तों से होकर उदयपुर आई थी और बस में कितने कैंडिडेट्स को लगाया था। पुलिस अब बस का पूरा रूट मैप खंगाल रही है

राजस्थान के बजट को लेकर अब तक कयास लगाए जा रहे थे कि इस बार का बजट जल्दी आ जाएगा, लेकिन सरकार की तैयारियों को देखते हुए लग रहा है कि बजट फरवरी में ही आएगा। सरकार जनवरी के अंतिम सप्ताह या फरवरी के पहले सप्ताह में विधानसभा का सत्र बुलाने की तैयारी में है

Leave a Reply

Required fields are marked *