इटावा: जैन धर्म के हजारों लोगों ने किया प्रदर्शन; श्री सम्मेद शिखर को पर्यटन स्थल घोषित करने का कर रहे विरोध, सिटी मजिस्ट्रेट को दिया ज्ञापन

इटावा: जैन धर्म के हजारों लोगों ने किया प्रदर्शन; श्री सम्मेद शिखर को पर्यटन स्थल घोषित करने का कर रहे विरोध, सिटी मजिस्ट्रेट को दिया ज्ञापन

इटावा: जैन समाज के धर्म गुरु समेत हजारों पुरुष एवं महिलाओं ने कलेक्ट्रेट में हंगामेदार प्रदर्शन किया। झारखंड राज्य में स्थित जैनियों के विश्व प्रसिद्ध धार्मिक स्थल श्री सम्मेद शिखर को पर्यटन स्थल घोषित करने पर जैन धर्म प्रेमियों ने झारखंड सरकार और केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। जैन समुदाय ने विरोध दर्ज कराते हुए विरोध प्रदर्शन कर सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन दिया।

बताते चलें आज सोमवार को नगरपालिका चौराहा से लेकर कलेक्ट्रेट तक हजारों की तादात में जैन धर्म के लोगों ने धर्म गुरु श्री महा मृत्युंजय तीर्थ प्रेणता आचार्य श्री 108 सौभाग्य सागर जी महाराज विरोध दर्ज करवाते हुए कचहरी पहुंचे। वट वृक्ष के स्थान पर जमकर झारखंड और केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। साथ ही सरकार से शेर सम्मेद शिखर को पर्यटन सूची से हटाने की मांग की है। मांग पूरी न होने पर समस्त जैन अन्न जल त्याग करके सड़कों पर धरना देने की चेतावनी की। बताते चलें जैन समुदाय के जनपद भर से जैन समुदाय के लोग एकत्रित होकर हजारों की तादात में विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए।

20 तीर्थंकरों का निर्वाण स्थल और करोड़ो मुनिराजों की तपो स्थली है

जैन धर्म प्रेमियों का कहना है कि श्री सम्मेद शिखर हमारा प्राचीन धार्मिक स्थल हैं, जो कि जैनियों के 20 तीर्थंकरों का निर्वाण स्थल और करोड़ो मुनिराजों की तपो स्थली है। यहां पर्यटन क्षेत्र बनने से होटल इत्यादि खुलेंगे, जिससे यहां है पवित्रता नष्ट हो जाएगी इसी का विरोध किया जा रहा है।

कर रहे शांतिपूर्ण प्रदर्शन

धर्म गुरु श्री महा मृत्युंजय तीर्थ प्रेणता आचार्य श्री 108 सौभाग्य सागर जी महाराज ने बताया कि हमारे तीर्थ स्थल को झारखंड सरकार ने पर्यटन स्थल घोषित करके केंद्र सरकार को भेज दिया। केंद्र सरकार ने भी उसको पास कर दिया, जिसका आज हम सभी जैन धर्म प्रेमी विरोध कर रहे शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हैं। अगर इसको वापस नहीं किया तो अन्न जल त्याग कर प्रदर्शन करने को विवश होंगे। हमारी मांग यह भी है कि हमारे तीर्थ स्थल को धार्मिक स्थल घोषित किया जाए।

ये लोग रहे मौजूद

प्रदर्शनकारी निष्ठा जैन बताती है कि हमारे धार्मिक स्थल को पर्यटन स्थल घोषित किया गया, जिससे अब वहां लोग घूमने आयेंगे वहा मास, मदिरा का सेवन करेंगे, जिससे वहा का माहौल खराब होगा। इस मौके पर आकाश दीप जैन, सौरभ जैन विशाल जैन, विक्की जैन, लकी जैन, मनोज जैन, राजू जैन, रोहित जैन, सुनील जैन लल्ला, राजू जैन, आदि लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Required fields are marked *