पूनिया का राहुल से तीसरा सवाल: कहा-राजस्थान में दूषित पानी से मौतों का सिलसिला कब रुकेगा

पूनिया का राहुल से तीसरा सवाल: कहा-राजस्थान में दूषित पानी से मौतों का सिलसिला कब रुकेगा

हिंडौन सिटी में दूषित पानी पीने से बच्चे की मौत होने और बड़ी संख्या में लोगों के बीमार पड़ने पर बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने आज कांग्रेस नेता राहुल गांधी से तीसरा सवाल पूछा है। सिकंदरा पहुंचे पूनिया ने जनसभा के मंच से ही कहा- जनता की अदालत से राहुल गांधी से मेरा तीसरा सवाल है कि राजस्थान में लोगों की मौतों का सिलसिला कब रुकेगा, दूषित पानी से मौतों का सिलसिला कब रुकेगा। राजस्थान की 30 प्रतिशत जनता जो दूषित पानी पी रही है, उसको साफ पीने का पानी कब मिलेगा ये मेरा तीसरा सवाल है। लेकिन पूनिया के अब तक पूछे गए तीनों सवालों पर राहुल गांधी या कांग्रेस ने कोई जवाब नहीं दिया है।आज बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष पूनिया हिंडौन के जिला अस्पताल भी पहुंचे, जहां उन्होंने भर्ती बीमार बच्चों और आम लोगों के स्वास्थ्य और दूषित पानी की समस्या की जानकारी जुटाई। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अस्पताल के बाहर गहलोत सरकार के खिलाफ नारेबाजी भी की।

इससे बड़ी शर्म की बात क्या हो सकती है-साफ पीने का पानी भी उपलब्ध नहीं

सतीश पूनिया ने हिंडौनसिटी के सरकारी अस्पताल में पहुंचकर दूषित पानी से बीमार हुए बच्चों और लोगों से मुलाकात कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी भी ली। पूनिया ने बयान जारी कर कहा- इससे बड़ी शर्म की बात क्या हो सकती है कि मुख्यमंत्री प्रदेश के नागरिकों को साफ पीने का पानी भी उपलब्ध नहीं करा पा रहे, राहुल गांधी की यात्रा में पूरी सरकार जुटी हुई है। लेकिन नागरिकों को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है। पूनिया बोले- दूषित पानी से जिस बच्चे की मौत हुई, क्या उसके परिजनों और बीमार लोगों से मिलने का वक्त राहुल गांधी निकाल पाएंगे या फिर राजनीतिक पर्यटन करके चले जाएंगे। क्या राहुल गांधी मुख्यमंत्री को जिम्मेदार मंत्री और अधिकारियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही करने की बात कहने की हिम्मत दिखा पाएंगे ?

गहलोत कुर्सी बचाने को राहुल गांधी की व्यवस्थाओं में लगे, नागरिक भगवान भरोसे

पूनिया ने कहा- किसी भी राज्य सरकार का कर्तव्य होता है कि राज्य के नागरिकों को क्वालिटी एजुकेशन, मेडिकल फैसिलिटी, साफ पीने का पानी वगैरह प्राथमिकता से उपलब्ध करवाए। लेकिन कांग्रेस की अशोक गहलोत सरकार हर मोर्चे पर राज्य के नागरिकों के लिए ड्यूटी निभाने में पूरी तरह नाकाम है। इससे बड़ी शर्म की बात क्या हो सकती है कि मुख्यमंत्री प्रदेश के नागरिकों को स्वच्छ पेयजल भी उपलब्ध नहीं करा पा रहे और अपनी कुर्सी बचाने के लिए राहुल गांधी की यात्रा की व्यवस्थाओं में लगे हुए हैं और राज्य के नागरिक भगवान भरोसे हैं।

2 की मौत, 18 गंभीर, 135 बीमार

करौली के हिंडौन सिटी में दूषित पानी पीने से मौत का मामला सामने आया है। शाहगंज निवासी देवकुमार (12 साल) पुत्र गिरधारी कोली और दत्तात्रेय पाड़ा निवासी रतन धोबी (47 साल) को पानी पीने के बाद उल्टी-दस्त शुरू हो गए थे। मंगलवार को हिंडौन जिला अस्पताल में बच्चे देवकुमार के परिजन उसे लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। जबकि रतन धोबी की तबीयत ठीक सुधरने पर परिजन उसे घर ले गए। मंगलवार रात उसने घर पर ही दम तोड़ दिया। मृतक के पोस्टमार्टम के बाद ही मौत के कारणों का खुलासा होने की बात कही जा रही है।​​​​​​ हिंडौन में दूषित पानी पीने से ​135 से ज्यादा लोग बीमार बताए जा रहे हैं। 18 गंभीर मरीजों को जयपुर रेफर किया गया है। जलदाय मंत्री महेश जोशी के निर्देश पर अधिकारियों की एक टीम हिंडौन पहुंची है। जिसमें पीएचईडी के चीफ इंजीनियर शहरी केडी गुप्ता, मुख्य रसायन अधिकारी एचएस देवेंद्र शामिल हैं। टीम प्रभावित क्षेत्रों का दौरा कर पाइपलाइन, लीकेज, अवैध कनेक्शन, दूषित पेयजल की जानकारी ले रही है।

बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष के तीनों सवालों पर कोई जवाब नहीं

बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया पिछले तीन दिन से लगातार राहुल गांधी से सवाल पूछ रहे हैं। 18 दिन तक राहुल गांधी के राजस्थान में ठहरने और भारत जोड़ो यात्रा निकालने तक उन्होंने हर दिन एक सवाल पूछने का फैसला किया है। लेकिन पूनिया के सारे सवाल खाली ही जा रहे हैं। राहुल गांधी या कांग्रेस पार्टी की ओर से अब तक उनके एक भी सवाल का जवाब नहीं दिया गया है। हालांकि पूनिया जनता और मीडिया तक लगातार अपने सवाल पहुंचा रहे हैं।

पहला सवाल- क्या राहुल गांधी किसानों की कर्जमाफी का वादा पूरा करेंगे ?

दूसरा सवाल- राहुल गांधी राजस्थान की जनता को अपराधों से मुक्ति कब दिलाएंगे। महिलाओं, बच्चियों,SC-ST को न्याय कब दिलाएंगे ?

तीसरा सवाल- राहुल गांधी की पार्टी की कांग्रेस सरकार में दूषित पानी से राजस्थान के लोगों की मौतों का सिलसिला कब रुकेगा ?

Leave a Reply

Required fields are marked *