सब्बल घुसने से सिर्फ 5 सेकंड में मौत: पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सांस नली और ब्रेन डैमेज मिला

सब्बल घुसने से सिर्फ 5 सेकंड में मौत: पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सांस नली और ब्रेन डैमेज मिला

यूपी के अलीगढ़ में शुक्रवार को डाबर-सोमना स्टेशन के बीच ट्रेन में बैठे युवक के शरीर में उछल कर आया सब्बल धंस गया। इससे उसकी मौत हो गई। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि गर्दन में सब्बल घुसने से हरिकेश की मौत सिर्फ 5 सेकंड में ही हो गई। सब्बल उसकी गर्दन और दिमाग को चीरता हुआ बाहर निकल गया था।

इस कारण उसे सोचने-समझने का भी समय नहीं मिला। शनिवार को डॉक्टरों की टीम ने शव का पोस्टमॉर्टम किया। सब्बल घुसने के कारण हरिकेश की सांस नली और ब्रेन पूरी तरह से डैमेज हो गया था। वहीं वहीं शनिवार देर शाम रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने मृतक के परिजनों को 5 लाख रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया।

कान के नीचे से घुसा था सब्बल

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार लगभग साढ़े 7 किलो वजन का सब्बल गोली की रफ्तार से अंदर घुसा था। मृतक के कान के नीचे धंस गया था। कान के नीचे से घुसने के बाद यह सब्बल गर्दन के पिछले हिस्से को फाड़ते हुए बाहर निकल गया।

जिसके कारण उसके सांस लेने की नली फट गई और दिमाग भी डैमेज हो गया। इसी कारण उसकी कुछ ही सेकंड के अंदर मौत हो गई। सब्बल की रफ्तार इतनी तेज थी कि हरिकेश के गर्दन को पार करती हुए सीट के दूसरी ओर निकल गया।

1 घंटे तक चला पोस्टमॉर्टम, हुई वीडियोग्राफी

हादसा रेल अधिकारियों व अन्य लोगों के लिए अचंभा बना हुआ है। लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि आखिर 5-6 फीट का सब्बल 110 किमी./घंटे की रफ्तार से जा रही ट्रेन के अंदर कैसे घुस गया। यही कारण है कि मृतक हरिकेश के पोस्टमॉर्टम की वीडियोग्राफी भी कराई गई।

डॉक्टरों की टीम लगभग एक घंटे तक पोस्टमॉर्टम करती रही और इस दौरान लगातार वीडियो रिकॉर्डिंग की गई। इस रिकॉर्डिंग को सुरक्षित रखा गया है, जिससे आगे की जांच में इसका इस्तेमाल किया जा सके।

पोस्टमॉर्टम करने वाली टीम भी अचंभित

अलीगढ़ के सोमना में चलती ट्रेन में सब्बल घुसने के कारण हुई मौत अभी तक लोगों की समझ के परे है। जीआरपी ने मौके पर जाकर सब्बल को खींचकर बाहर निकाला था। जांच अधिकारी भी इस बात को समझ नहीं पा रहे हैं कि इतना लंबा और वजनी सब्बल ट्रेन के अंदर इतनी रफ्तार से कैसे घुसा।

वहीं मृतक का पोस्टमॉर्टम करने वाली डॉक्टरों की टीम भी इस बात से पूरी तरह से अचंभित है। शव का पोस्टमॉर्टम करने वाले डॉक्टरों का कहना था कि उन्होंने पहली बार इस तरह का पोस्टमॉर्टम किया है। ये मामला सबसे अलग है।

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में नीलांचल एक्सप्रेस में एक बेहद चौंकाने वाला हादसा हुआ है। यहां पटरी पर पड़ा सब्बल ट्रेन की खिड़की तोड़ते हुए यात्री के गर्दन में जा घुसा और सिर फाड़ते हुए निकल गया। यात्री की मौके पर ही मौत हो गई। घटना के दौरान ट्रेन की रफ्तार 110 किमी/घंटा बताई जा रही है। घटना डाबर-सोमना स्टेशन के बीच हुई। 110 किमी/घंटे की रफ्तार से दौड़ रही थी ट्रेन, पैसेंजर की मौके पर ही मौत

सब्बल से मौत पर 15 हजार मुआवजा, पिता ने लौटाया

यूपी के अलीगढ़ में शुक्रवार को डाबर-सोमना के बीच ट्रेन में बैठे युवक के शरीर में उछल कर आया सब्बल धंस गया। इससे उसकी मौत हो गई। हादसे में रेलवे की लापरवाही सामने आ रही है। इसके बावजूद रेलवे ने मृतक के पिता को मात्र 15 हजार रुपए का मुआवजा दिया। उन्होंने इसे लेने से इनकार कर दिया। कहा, मुझसे ही 50 हजार रुपए ले जाओ। वहीं शनिवार देर शाम रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने मृतक के परिजनों को 5 लाख रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया। शाम को रेल मंत्री ने किया 5 लाख की मदद का ऐलान

Leave a Reply

Required fields are marked *