मेघालय: हो गया पेट्रोल-डीजल का संकट? CM कॉनराड संगमा ने नागरिकों से की खास अपील

मेघालय: हो गया पेट्रोल-डीजल का संकट? CM कॉनराड संगमा ने नागरिकों से की खास अपील

शिलांग: मेघालय के मुख्यमंत्री कॉनराड के संगमा ने शुक्रवार को कहा कि राज्य में पेट्रोल और डीजल की कोई कमी नहीं है. मुख्यमंत्री ने सभी नागरिकों से अनुरोध किया कि वे घबराहट में आकर किसी भी आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी न करें. उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने स्टॉक और आपूर्ति की कमी को सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कार्रवाई शुरू कर दी है. सीएम ने ट्वीट किया, मेघालय में पेट्रोल और डीजल की कोई कमी नहीं है. स्टॉक और आपूर्ति में कोई कमी नहीं हो, यह सुनिश्चित करने के लिए सरकार द्वारा आवश्यक कार्रवाई शुरू की गई है. सभी नागरिकों से अनुरोध है कि वे घबराकर किसी भी आवश्यक सामान की खरीदारी न करें.

असम में पेट्रोलियम कर्मचारियों के शीर्ष निकाय ने कहा था कि उसने पड़ोसी राज्य में ईंधन का परिवहन बंद कर दिया है. राज्य में ईंधन की कमी के डर से गुरुवार दोपहर से ही पेट्रोल पंपों पर सैकड़ों वाहन टैंक फुल कराने के लिए इंतजार करते देखे गए. वाहनों की कतार के कारण राज्य की राजधानी शिलांग और अन्य हिस्सों में ट्रैफिक जाम लग गया. पुलिस अधिकारी कुछ पेट्रोल पंपों पर वाहनों की आवाजाही को नियंत्रित करते देखे गए, जहां वाहन चालक अपनी बारी का इंतजार करते हुए अनियंत्रित हो गए. असम पेट्रोलियम मजदूर यूनियन (APMU) ने IOC, HPCL और BPCL सहित सभी PSU तेल विपणन कंपनियों को पत्र भेजकर टैंकरों में ईंधन लोड नहीं करने के अपने निर्णय के बारे में सूचित किया था.

अंतरराज्यीय सीमा पर 6 लोगों की मौत के बाद भड़की हिंसा के बीच यूनियन ने असम के नंबर वाले वाहनों की मेघालय में सुरक्षा पर चिंता व्यक्त की. एपीएमयू के महासचिव रमन दास ने पीटीआई-भाषा से कहा, मेघालय में पहले भी स्थिति बिगड़ने पर हमारे चालकों और अप्रेंटिस पर हमला किया गया था. हम फिर से रिस्क नहीं ले सकते. उन्होंने आरोप लगाया कि पिछले दो दिनों में गैर-पेट्रोलियम उत्पादों की आपूर्ति करने वाले असम नंबर के ट्रकों पर पथराव किया गया, लेकिन अभी तक तेल टैंकरों को कोई नुकसान नहीं पहुंचा है. असम पेट्रोलियम मजदूर यूनियन (एपीएमयू) की घोषणा के बाद कि उसने हिंसा के डर से मेघालय में ईंधन का परिवहन बंद कर दिया है, मेघालय के नागरिक आपूर्ति निदेशक प्रवीण बख्शी ने गुरुवार को ऐसे वाहनों के लिए पुलिस एस्कॉर्ट की व्यवस्था करने का निर्देश दिया.

मेघालय के नागरिक आपूर्ति निदेशक की ओर से जारी पत्र में कहा गया है, आवश्यक वस्तुओं को ले जाने वाले वाहनों की सुचारू आवाजाही सुनिश्चित करने के लिए कृपया सभी राष्ट्रीय राजमार्गों पर जहां भी संभव हो, गश्त/पुलिस एस्कॉर्ट प्रदान करने की व्यवस्था की जाए. बख्शी ने जिला अधिकारियों को सभी पेट्रोल पंपों पर ईंधन का पर्याप्त स्टॉक सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया. विवादित असम-मेघालय सीमा पर मुकरोह में मंगलवार की हिंसा के बाद, जिसमें 6 लोग मारे गए, मेघालय में हिंसा फैल गई. शिलांग में प्रदर्शनकारियों ने गुरुवार की रात एक पुलिस बस, एक जीप, एक ट्रैफिक पुलिस कियोस्क पर पेट्रोल बम फेंके और पथराव किया जिसमें 4 पुलिसकर्मी घायल हो गए. तीन अन्य नागरिक भी घायल हो गए, प्रदर्शन स्थल के पास अज्ञात बदमाशों ने उन पर हमला किया.

Leave a Reply

Required fields are marked *