प्रयागराज: माफिया अतीक की 128 करोड़ की संपत्ति कुर्क; प्रयागराज में 36 बीघा सरकारी जमीन पर किया था कब्जा

प्रयागराज: माफिया अतीक की 128 करोड़ की संपत्ति कुर्क; प्रयागराज में 36 बीघा सरकारी जमीन पर किया था कब्जा

माफिया अतीक अहमद पर अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई हुई है। पुलिस ने उसकी 128 करोड़ की बेनामी संपत्तियों को कुर्क किया है। ये प्रॉपर्टी झूंसी इलाके में 36 बीघा जमीन प्राइम लोकेशन पर है। अतीक ने अपने गुंडई के दम पर कब्जा किया था।

वाराणसी हाईवे से कनेक्टिंग रोड पर होने के चलते इसकी कीमत 128 करोड़ है। बुधवार सुबह पुलिस ने जमीन पर कुर्की का नोटिस लगाकर डुगडुगी पिटवाई।

अब तक 1630 करोड़ की प्रॉपर्टी कुर्क

अब तक अतीक की करीब 1630 करोड़ की संपत्तियां कुर्क हो चुकी है। प्रयागराज पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत झूंसी के हवेलिया और कसारी-मसारी में 36 बीघे जमीन चिह्नित किया है। सूत्रों की माने तो इस जमीन को अतीक ने अपने करीबियों और रिश्तेदारों के नाम पर ले रखी थी। ताकि, प्रशासन की कार्रवाई से बच सके।

जिले के अंदर धूमनगंज इंस्पेक्टर राजेश कुमार मौर्य और पूरा मुफ्ती थाना प्रभारी उपेंद्र प्रताप सिंह ने अतीक और उनके गुर्गों की करोड़ों की संपत्ति कुर्क करने की कार्रवाई को अंजाम दिया गया है। डीएम संजय खत्री ने इस कार्रवाई की अनुमति दी है। ये संपत्ति उसके पिता हाजी फिरोज अहमद के नाम पर है। इसे 2006-07 में खरीदा गया था।

5 सितंबर को अतीक पर हुई थी पहली कार्रवाई, फिर नहीं थमी

शासन ने माफिया और हिस्ट्रीशीटरों के अवैध रूप से तैयार किए गए मकानों, काली कमाई से बनाए गए गेस्ट हाउसों, लॉज आदि को ढहाने का अभियान शुरू करने का आदेश दिया था। इस आदेश के क्रम में PDA ने 5 सितंबर 2021 को पहली कार्रवाई प्रयागराज में की थी। अतीक अहमद के रिश्तेदार व हिस्ट्रीशीटर इमरान जई के पानी की टंकी तिराहे पर स्थित अवैध होटल और कार्यालय को ढहा दिया गया था। इसके बाद 7 सितंबर को नवाब यूसुफ रोड, हनुमान मंदिर चौराहा पास, महात्मा गांधी मार्ग पर अतीक के निर्माणाधीन अवैध व्यवसायिक कंप्लैक्स को ढहाया गया था।

इसके बाद 17 सितंबर को कटका झूंसी में अतीक के कोल्ड स्टोरेज को नेस्तनाबूद कर दिया गया था। यह कोल्ड स्टोरेज भी नजूल की जमीन पर चल रहा था। इसके बाद प्रयागराज, कौशांबी में अतीक के करीबी रिश्तेदारों और उनके गुर्गों के खिलाफ अवैध निर्माणों को खोज-खोजकर ढहाने की कार्रवाई की गई। पीडीए के विशेष कार्याधिकारी ने बताया कि अब तक 45 से अधिक अवैध मकान, गेस्ट हाउस, लॉज आदि ढहाए जा चुके हैं। इनकी कीमत 1500 करोड़ रुपए से अधिक है।

सलाखों के पीछे है अतीक के भाई-बेटे

माफिया अतीक अहमद अहमदाबाद जेल में गुनाहों की सजा काट रहा है। अतीक अहमद के खिलाफ 163 मुकदमे दर्ज हैं। इसमें हत्या का प्रयास, हत्या की साजिश, प्रॉपर्टी हड़पना, रंगदारी मांगना जैसे गंभीर मामले हैं। हालांकि, इनमें से वह बहुत सारे मामले में बरी हो चुके हैं। 38 मुकदमे ट्रायल पर हैं। अतीक पर पहला मुकदमा 1979 में दर्ज हुआ था।

उसके आईएस 227 गैंग का सेकंड मैन कहा जाने वाला भाई अशरफ बरेली जेल में है। उसका छोटा बेटा अली और बड़ा बेटा उमर तक सलाखों के पीछे पहुंच चुके है। वहीं अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन सूबे के मुख्यमंत्री की तारीफ करती नहीं थक रही है। ताकि उनपर होने वाली कार्रवाई पर ब्रेक लग सके।

5 साल में बदमाश-बाहुबली की 3954 करोड़ की संपत्ति जब्त

यूपी में बाहुबली नेताओं और गैंगस्टरों के खिलाफ योगी सरकार का एक्शन जारी है। पिछले 5 सालों में ऐसा कोई सप्ताह नहीं बीता जब माफियाओं के खिलाफ संपत्ति जब्ती की कार्रवाई नहीं हुई हो। पिछले 5 साल में यूपी के अंदर सरकार ने 3,954 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त कर ली है। जिनके खिलाफ जब्ती की कार्रवाई हुई है। एक समय उनका दबदबा था लेकिन आज सभी जेल में हैं।

आज हम उन बाहुबली नेताओं, माफियाओं के बारे में जानेंगे जिनकी सबसे अधिक संपत्ति योगी सरकार ने जब्त की है। इस लिस्ट में सबसे ऊपर प्रयागराज के बाहुबली नेता अतीक अहमद हैं। आइए बात इन्हीं से शुरू करते हैं। इसमें अतीक की 959 करोड़ और मुख्तार की 448 करोड़ की संपत्ति शामिल

Leave a Reply

Required fields are marked *