Cogress: अगले साल फिर यात्रा पर निकलेंगे राहुल गांधी; नॉर्थ ईस्ट से कच्छ तक हो सकती है अगली यात्रा

Cogress: अगले साल फिर यात्रा पर निकलेंगे राहुल गांधी; नॉर्थ ईस्ट से कच्छ तक हो सकती है अगली यात्रा

राहुल गांधी की कन्याकुमारी से कश्मीर तक भारत जोड़ो यात्रा के बीच अब अगली यात्रा का रोडमैप भी तैयार हो गया है। अगले साल राहुल गांधी पूर्वी भारत से पश्चिमी भारत की यात्रा पर निकलेंगे। भारत जोड़ो यात्रा का यह दूसरा फेज होगा।


इसका पैटर्न भी वर्तमान में चल रही यात्रा जैसा होगा। यदि दूसरा फेज सक्सेसफुली कंप्लीट होता है तो राहुल करीब आठ महीने में 7 हजार किलोमीटर की पैदल यात्रा पूरी करेंगे।


राहुल गांधी की दूसरे फेज की भारत जोड़ो यात्रा नॉर्थ ईस्ट से लेकर गुजरात के कच्छ तक हो सकती है। इसका रूट फाइनल होना बाकी है। राहुल गांधी की टीम दूसरे फेज की भारत जोड़ो यात्रा की तैयारियों का खाका बनाने में जुट गई है।


प्रियंका गांधी के राजनीतिक सलाहकार और भारत जोड़ो यात्रा के राजस्थान प्रभारी विभाकर शास्त्री ने कहा- यात्रा में कवर होने से कुछ राज्य रह जाएंगे।


अभी यात्रा बॉटम टू अप यानी दक्षिण से उत्तर तक जा रही है। अगली यात्रा पूर्व से पश्चिम तक होगी। दूसरी यात्रा की प्लानिंग पूरी हो गई है।


हम उम्मीद करते हैं कि दोनों ही यात्रा के दौरान ज्यादा से ज्यादा एरिया को कवर करें। अभी एक रोडमैप बना है, दूसरी यात्रा का रूट फाइनल नहीं किया है। दूसरी यात्रा लोकसभा चुनाव से पहले होगी। फिलहाल पहली भारत जोड़ो यात्रा का करीब आधा सफर पूरा हो चुका है।


दूसरी यात्रा 3500 किलोमीटर के करीब

राहुल गांधी कन्याकुमारी से कश्मीर की यात्रा में 3700 किलोमीटर की दूरी तय करेंगे। इसमें 12 राज्य कवर होंगे। ईस्ट से वेस्ट की दूसरी भारत जोड़ो यात्रा की दूरी भी 3500 किलोमीटर के आसपास होगी।


राहुल गांधी की दूसरी भारत जोड़ो यात्रा का शुरुआती रोडमैप बन चुका है। अब तक के रोडमैप के अनुसार दूसरी भारत जोड़ो यात्रा का रूट नॉर्थ ईस्ट से गुजरात के कच्छ तक करने पर विचार चल रहा है। नॉर्थ ईस्ट में यात्रा का शुरुआती पॉइंट अरुणाचल प्रदेश या मणिपुर से हो सकता है।


दूसरी यात्रा में मणिपुर, नागालैंड, मेघालय, असम, पश्चिमी बंगाल, बिहार, झारखंड, यूपी, छत्तीसगढ़ और गुजरात राज्य कवर करने पर विचार चल रहा है। अभी अलग अलग रूट पर विचार चल रहा है। दूसरी यात्रा में ज्यादा से ज्यादा राज्य कवर करने के हिसाब से रूट चार्ज तैयार किया जा रहा है।


राहुल गांधी की कन्याकुमारी से कश्मीर तक जाने वाली पहली भारत जोड़ो यात्रा दिसंबर के पहले सप्ताह में राजस्थान में आएगी।


भारत जोड़ो यात्रा करीब 18 से 21 दिन तक राजस्थान में रहेगी। इसमें 3 दिसंबर के आसपास यात्रा झालावाड़ के रास्ते राजस्थान में प्रवेश करेगी। झालावाड़ से कोटा और इसके बाद कोटा-लालसोट मेगा हाईवे का रूट लेगी। इस रूट में कोटा के बाद बूंदी, सवाईमाधोपुर जिले आएंगे।


दौसा से यह यात्रा मेगा हाईवे होते हुए अलवर के मालाखेड़ा होते हुए आगे एनसीआर में प्रवेश करेगी। मालाखेड़ा में राहुल गांधी की बड़ी सभा होगी।


गुजरात चुनाव में प्रचार के लिए यात्रा से ब्रेक लेंगे राहुल गांधी

राहुल गांधी की यात्रा जब मध्यप्रदेश में होगी तब वे कुछ समय गुजरात चुनाव में प्रचार के लिए जाएंगे। गुजरात चुनाव में प्रचार करने जाने के लिए राहुल गांधी यात्रा से ब्रेक लेंगे। नवंबर के अंत में राहुल गांधी गुजरात चुनाव प्रचार में जाएंगे। इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के पदभार समारोह में शामिल होने के लिए राहुल गांधी ने यात्रा से ब्रेक लिया था।


देश में राहुल गांधी सबसे ज्यादा लंबी यात्रा करने वाले नेता के तौर पर रिकॉर्ड बनाने की तैयारी कर रहे हैं। राहुल गांधी से पहले विनोबा भावे ने भूदान आंदोलन के वक्त यात्रा की थी, और इसके बाद पूर्व पीएम चंद्रशेखर ने पूरे देश की यात्रा की थी। राहुल गांधी पूरी यात्रा पैदल कर रहे हैं और अगली यात्रा भी पैदल होगी।


ये भी पढ़ें

राहुल गांधी आ सकते हैं जयपुर:अब तीन दिन पहले राजस्थान आएगी भारत जोड़ो यात्रा, झालावाड़ से लेगी एंट्री

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा राजस्थान में 3 दिसंबर की रात करीब 9 बजे एंट्री लेगी। यात्रा से ब्रेक लेकर राहुल के जयपुर आने की संभावना है। वहीं, यात्रा की तैयारियों का जायजा लेने राहुल के प्रतिनिधि सुशांत मिश्रा व उनकी टीम झालावाड़ पहुंच चुकी है। मिश्रा राहुल की यात्रा के रूट प्रबंधन और मीटिंग का काम देखते हैं। इस दौरान गहलोत और पायलट एक मंच पर दिखेंगे।

Leave a Reply

Required fields are marked *