America : भारत-अमेरिका सुरक्षा साझेदारी के निर्माता पूर्व रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर का निधन, एस. जयशंकर ने जताया शोक

America : भारत-अमेरिका सुरक्षा साझेदारी के निर्माता पूर्व रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर का निधन, एस. जयशंकर ने जताया शोक

वॉशिंगटन: भारत और अमेरिका के बीच आधुनिक सुरक्षा साझेदारी के वास्तुकार माने जाने वाले पूर्व अमेरिकी रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर का निधन हो गया है. वह 68 साल के थे. परिवार ने बताया कि उनकी मौत दिल का दौरा पड़ने के वजह से हुई. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कार्टर को श्रद्धांजलि देते हुए उन्हें जन्म से देशभक्त बताया. भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कार्टर को वैश्विक रणनीतिकार बताकर उनकी सराहना की.


कार्टर के परिवार ने एक बयान में कहा, पूर्व रक्षा मंत्री एश्टन बी. कार्टर का परिवार अत्यंत दु:ख एवं पीड़ा के साथ यह जानकारी साझा करता है कि कार्टर का 68 वर्ष की आयु में अचानक दिल का दौरा पड़ने से बोस्टन में सोमवार सुबह निधन हो गया. बाइडन ने एक बयान में कहा कि कार्टर जन्म से देशभक्त थे. उन्होंने कहा, एक भौतिक विज्ञानी और दशकों तक राष्ट्रीय सुरक्षा क्षेत्र के नेता रहे कार्टर ने देश के 25वें विदेश मंत्री के पद पर सेवाएं देने समेत विदेश मंत्रालय में असैन्य नेतृत्व के हर स्तर पर विशिष्ट सेवाएं दीं.


न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार भारत में अमेरिका के पूर्व राजदूत रिचर्ड वर्मा ने कहा, कार्टर आधुनिक अमेरिका-भारत सुरक्षा साझेदारी के वास्तुकार भी थे. अमेरिका में पिछले 20 वर्षों में संबंधों को आकार देने में किसी ने उनके जितना बड़ा योगदान नहीं दिया. कार्टर अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के प्रशासन में रक्षा मंत्री थे. उन्हें भारत-अमेरिका असैन्य परमाणु समझौते, भारत के खिलाफ कई हथियारों के निर्यात प्रतिबंधों को हटाने और भारत को अमेरिका का एक प्रमुख रक्षा भागीदार बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने का श्रेय दिया जाता है.


भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा, पूर्व अमेरिकी रक्षा मंत्री एश्टन कार्टर के निधन के बारे में जानकर बहुत दु:ख हुआ. उनके साथ काम करना अच्छा अनुभव था और वह हमारे रक्षा संबंधों के प्रबल समर्थक थे. वह एक वैश्विक रणनीतिकार भी थे, जो सोचने के लिए हमेशा प्रेरित करते थे. अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने भी कार्टर के निधन पर शोक जताया

Leave a Reply

Required fields are marked *