10 लाख दिये बनाने वाले कुम्हारों का गांव जयसिंहपुर

10 लाख दिये बनाने वाले कुम्हारों का गांव जयसिंहपुर

अयोध्या में दीपोत्सव को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं। खुद पीएम नरेंद्र मोदी अयोध्या में मौजूद रहेंगे। इस बार 17 लाख दीपक दीपोत्सव पर जलाकर नया रिकॉर्ड बनाने की तैयारी है। माना जा रहा है कि एक बार फिर राम की पैड़ी के साथ-साथ अयोध्या के सभी पौराणिक कुंड, मंदिर एक बार फिर दीपों से जगमगाते दिखाई देंगे।


चाक चलाते लोगों के चेहरों पर खुशी

अयोध्या में छठा दीपोत्सव की तैयारियों को करीब से जानने के लिए दैनिक भास्कर टीम कुम्हारों के गांव जयसिंहपुर पहुंची। यहां कुल 45 परिवार रहते हैं। सभी घर के बाहर चाक लगे हैं। सभी परिवार दिये तैयार रहे हैं। चाक चलाते हुए लोगों के चेहरों पर खुशी है, क्योंकि उन्हें 10 लाख दिये तैयार करने का ऑर्डर मिला है।


हर घर के बाहर चाक पर लोग दिये बनाते दिखे

अयोध्या राजसदन से दर्शननगर मार्ग पर करीब 2 किमी. चलने के बाद विद्याकुंड आता है। कुछ दूर आगे चलने पर सड़क के दोनों तरफ कुम्हारों के घर शुरू हो जाते हैं। दैनिक भास्कर टीम यहां पहुंची। तो कुछ कुम्हार दिये बनाते नजर आए। आधुनिक चाक पर मिट्‌टी का थाप लगाकर कच्ची मिट्‌टी को आकार देने में सभी कुम्हार व्यस्त दिखाई दे रहे थे। उनके पास घर की महिलाएं बैठी थी, जो आंवे जिसमें दिये को पकाते हैं लगाते दिखाई दीं। यहां बच्चे से लेकर बूढ़े तक ऐसे दिये और अन्य मिट्‌टी के सामान बनाने में जुटे हैं। ऐसा लगता है जैसे खेतों में फसल की कटाई चल रही है। चारों तरफ लोग काम में जुटे नजर आते हैं। ऐसा इसलिए भी, क्योंकि अब दीपोत्सव यानी 23 अक्टूबर में समय नहीं बचा है।


40 हजार दिये बनाकर दीपोत्सव के लिए भेजे

हम गांव के शुरुआत में पड़ने वाले मकान पर पहुंचे। ये पुर्णवासी प्रजापति का था। हमने पूछा कि तैयारी कैसी है? जवाब मिला, बहुत अच्छी। हमें 40 हजार दिये बनाने का ऑर्डर मिला है। लगभग सभी दिये तैयार भी हैं। जो बचे हैं, वो शाम तक तैयार कर देंगे। उनके करीब ही महिला बैठी थीं। पूछने पर उन्होंने कहा कि 6 सालों में पहली बार अच्छा ऑर्डर मिला है। हम लोग तो ऑर्डर मिलने से एक महीने पहले ही दिये तैयार कर रहे थे।


इस बार दिवाली अच्छा जाइ

कुछ दूसरी पर एक और घर था। वहां दिये तैयार करते हुए संजय मिले। वो पुराने और ताजे दियों को गिन रहे थे। उन्होंने कहा कि भैया इस बार लागत है कि दिवाली अच्छी जाइ, काहे का अबकी बार एक लाख दिये बनायन है। पिछली बार तो खाली 10 हजार दिये बनाने का ऑर्डर मिला था। घर भर मिलकर इस बार बनवा रहा है। अब दीवाली के खातिर दिये बनाइ रहा हैं। उनके बड़े बेटे मनोज ने कहा कि करीब 10 हजार दीप तैयार कर लिया है।


8 लाख दिये घाटों पर पहुंचा दिए

छठे दीपोत्सव में दीयें का ठेका जयसिंहपुर के विनोद कुमार प्रजापति को भी मिला था। भास्कर से बात करते हुए उन्होंने बताया कि इस बार सभी दिये यहीं पर तैयार किए गए है। करीब 8 लाख दीयों को राम की पैड़ी पर भिजवा दिया गया है। शेष दिये मंगलवार शाम तक भेज दिया जाएगा।

Leave a Reply

Required fields are marked *