जोधपुर जंक्शन बनेगा वर्ल्ड क्लास: 474 करोड़ रुपये होंगे खर्च सबकुछ बदल जाएगा

जोधपुर जंक्शन बनेगा वर्ल्ड क्लास: 474 करोड़ रुपये होंगे खर्च सबकुछ बदल जाएगा

जयपुर, भारतीय रेलवे Indian Railways पिछले कुछ बरसों से बदलाव और अपडेटेशन के दौर से गुजर रहा है. इसी कड़ी में भारतीय रेलवे का उत्तर पश्चिम रेलवे जोन भी लगातार नित नए बदलाव कर रहा है. बरसों पुराने रेलवे स्टेशनों की इमारतों में अब बदलाव की कवायद शुरू हो गई है. आने वाले समय में NWR के सभी बड़े जंक्शन नई शक्ल में देखने को मिलेंगे. सबसे पहले इसकी शुरूआत होने जा रही है जोधपुर जंक्शन Jodhpur Junction से. हालांकि उत्तर पश्चिम रेलवे के सबसे बड़े जंक्शन जयपुर का नंबर अभी नहीं आया है लेकिन उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही जयपुर जंक्शन का भी कायाकल्प होगा.


उत्तर पश्चिम रेलवे के सीपीआरओ कैप्टन शशि किरण के अनुसार भारतीय रेलवे देश के हर रेलवे जोन में आमूलचूल परिवर्तन कर रहा है. उत्तर पश्चिम रेलवे के तहत आने वाले जोधपुर जंक्शन से इसकी शुरूआत होने जा रही है. रेलवे स्टेशन की इमारतों से लेकर यात्री सुविधाओं में विश्व स्तरीय बदलाव शुरू किए जा चुके हैं. इसके लिए उत्तर पश्चिम रेलवे में जोधपुर जंक्शन, उदयपुर, गांधीनगर और जैसलमेर को चुना गया है. फिलहाल 474 करोड़ रुपये की लागत से जोधपुर जंक्शन की तस्वीर बदलने जा रही है.जोधपुर जंक्शन को दी जाएगी नई शक्ल

सीपीआरओ ने बताया कि जोधपुर जंक्शन को मल्टीपल फ्लोर बिल्डिंग में बदला जाएगा. इसे मल्टीपल फ्लोर काम्पलेक्स बनाया जाएगा. इसमें शॉपिंग सेंटर्स डवलप किए जाएंगे. एंट्री और एग्जिट गेट को सेपरेट किया जाएगा. लिफ्ट और एस्केलेटर्स लगाए जाएंगे. आधुनिक पार्किंग सिस्टम को विकसित किया जाएगा.

पूरा जंक्शन सोलर पैनल से चलेगा. इनके साथ ही अन्य विश्वस्तरीय सुविधाएं जुटाई जाएंगी. इसकी तैयारियां की जा रही हैआगामी तीन साल में पूरा हो जाएगा काम

बकौल कैप्टन शशि किरण जोधपुर जंक्शन को वर्ल्ड क्लास बनाने की तैयारियां जोर शोर से शुरू हो चुकी है. आने वाले तीन साल में ये काम पूरा कर लिया जाएगा. इसके सामानांतर ही जैसलमेर,उदयपुर और गांधीनगर रेलवे स्टेशन का रि-डवलपमेंट का काम भी शुरू होने जा रहा है. इन चार जंक्शन के साथ साथ उत्तर पश्चिम रेलवे के सभी बड़े रेलवे स्टेशन की सूरत को बदला जाएगा. इनकी कार्य योजना पर काम जारी है.


जैसा शहर वैसा ही रेलवे स्टेशन होगा

इस बदलाव की खास बात ये रहेगी कि जैसा शहर होगा वैसा ही उसके रेलवे स्टेशन को बनाया जाएगा. उदाहरण के तौर पर जोधपुर को जिस खासियत की वजह से दुनिया में जाना जाता है वैसी ही कलाकृतियां और डिजाइन जंक्शन पर देखने को मिलेंगे. यानि जब रेलयात्री किसी दूसरे स्टेशन से जोधपुर पहुंचेगा और उसे रेलवे स्टेशन देखते ही अंदाजा हो जाएगा कि वो जोधपुर में है.

Leave a Reply

Required fields are marked *