रेलवे के एडीजी की पत्नी के साथ ठगी: कस्टमर केयर कर्मी बनकर 15 हजार की साइबर ठगी 3 लोगों के खाते से 1.25 लाख रुपए निकाले

रेलवे के एडीजी की पत्नी के साथ ठगी: कस्टमर केयर कर्मी बनकर 15 हजार की साइबर ठगी 3 लोगों के खाते से 1.25 लाख रुपए निकाले

लखनऊ में साइबर जालसाजों ने रेलवे के ADG की पत्नी सहित तीन लोगों के खाते में 1.25 लाख रुपए निकाल लिए। इन लोगों को साइबर ठगों ने फोन कर फंसाया और OTP ले ली। इसके बाद खाते से पैसे निकाल लिए। पीड़ितों की शिकायत पर विभूतिखंड गाजीपुर और अलीगंज थाना पुलिस मुकदमा दर्ज कर साइबर सेल की मदद से ठगों की तलाश कर रही है।


ऑनलाइन बुक समान न मिलने पर कस्टमर केयर से की थी शिकायत

विभूतिखंड स्थित पुलिस एंक्लेव निवासी एडीजी पीयूष आनंद की पत्नी प्रीति आनंद ने ऑनलाइन घरेलू समान बुक कराया था। सामान समय पर नहीं आया। उन्होंने 29 सितंबर ऑन लाइन कस्टमर केयर नंबर खोजकर कंपनी से संपर्क किया। इसके बाद जालसाजों ने सामान भेजने के बहाने से एक इंटरनेट लिंक भेजा।


इसके बाद बातों में फंसाकर लिंक डाउन लोड कराकर उनकी खाते की जानकारी ले ली। जिसके बाद उनके खाते से 14,671 रुपए निकाल लिए। प्रीति आनंद ने रुपए कटने का मैसेज आने पर ठगी का एहसास होने पर विभूतिखंड थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है।


सैन्य कर्मी बन ठग ने खाते से निकाले रुपए

इंदिरानगर के सेक्टर15 इलाके में ऋषभ सिंह ने पिछले दिनों अपने मकान किराए पर देने के लिए ओएलएक्स पर ऐड पोस्ट किया था। इसके बाद युवक ने खुद को सैन्य कर्मी बताकर संपर्क किया।

उसने मकान किराए पर लेने की बात कही और किराए के रुपए एडवांस भेजने के बहाने से खाते की जानकारी हासिल कर ली। उसके बाद खाते से दो बार में 48 हजार रुपए निकाल लिए। गाजीपुर पुलिस मामले की जांच कर रही है।

इसी तरह अलीगंज के त्रिवेणीनगर तृतीय ने निधि मिश्र रहती हैं। उन्होंने भी एक कमरा किराए पर देने के लिए ओएलएक्स पर विज्ञापन दिया था। किराएदार बन एक जालसाज ने निधि से संपर्क किया और बातचीत में किराए के रुपए एडवांस भेजने के बहाने से जालसाज ने खाते से 63,245 रुपए निकाल लिए। निधि ने अलीगंज थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है।

Leave a Reply

Required fields are marked *