अखिलेश को डर कहीं आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी से बरामद न हो जाए बम या AK-47

अखिलेश को डर कहीं आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी से बरामद न हो जाए बम या AK-47

लखनऊ अखिलेश यादव अपनी पार्टी के पुराने लीडर आजम खान को लेकर बेहद डरे हुए हैं ये डर उन्होंने विधानसभा में जाहिर किया है मॉनसून सत्र के तीसरे दिन अभी सदन की कार्यवाही सुचारू रूप से शुरू भी नहीं हुई थी उससे पहले ही अखिलेश यादव ने विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना के सामने आजम खान को लेकर अपने मन में बैठे इस डर के बारे में बोलना शुरू कर दिया अखिलेश बोलते वक्त बेहद हड़बड़ी में थे उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात का डर है कि कहीं आजम खान की यूनिवर्सिटी से कोई बम या फिर AK47 रायफल न बरामद कर ली जाए


अखिलेश यादव ने विधानसभा अध्यक्ष से सदन में कहा सदन के बहुत ही वरिष्ठ नेता आजम खान साहब की यूनिवर्सिटी को घेर लिया और ये पहली बार नहीं घेरा गया ह. अध्यक्ष महोदय लगातार घेर रहे हैं और इस बार तो तैयारी ये है कि कहीं कुछ ऐसा न हो जाए जैसे एक बम रख दिया या फिर AK47 रख दी हो सकता है कि आजम खान साहब के यहां ये सब झूठी चीजें रख दी जाएं और मुकदमा दर्ज कर लिया जाए अध्यक्ष महोदय मैं चाहता हूं कि इस पर कम से कम कुछ हो जाए

दो मामलों का दिया हवाला

बता दें कि अखिलेश यादव ने मंगलवार को सदन में प्रतापगढ़ के उस छात्र का मामला उठाया था जिसने डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के काफिले को काला झंडा दिखाया था उसे गिरफ्तार करके जेल तो भेजा ही गया था लेकिन उसके घर से पांच देसी बम भी बरामद किये गये थे इससे पहले भदोही के ज्ञानपुर विधायक विजय मिश्रा के ठिकाने से AK47 रायफल और कारतूस बरामद किये गये थे अखिलेश यादव इन्हीं दोनों घटनाओं को आधार बनाकर सरकार पर ये आरोप लगा रहे थे कि कहीं आजम खान को घेरने के लिए सरकार उनकी यूनिवर्सिटी से बम या फिर रायफल न बरामद करवा दे

जौहर यूनिवर्सिटी में चल रहा है सर्च ऑपरेशन

बता दें कि पिछले दो-तीन दिनों से जौहर यूनिवर्सिटी के कैंपस में सर्च अभियान चल रहा है इस दौरान जमीन की खुदाई में एक गाड़ी बरामद की गयी जबकि एक कमरे को तोड़ने के बाद बड़ी संख्या में किताबें मिली थीं अब अखिलेश यादव को डर है कि सरकार अदावत में आजम खान की यूनिवर्सिटी से कहीं बम या रायफल न बरामद करवा दे

Leave a Reply

Required fields are marked *