पीलीभीत में दलित परिवार ने लगाया पलायन का पोस्टर:रास्ते को लेकर हुए झगड़े में 7 दिन तक नहीं हुई कार्रवाई पुलिस ने कराया समझौता

पीलीभीत में दलित परिवार ने लगाया पलायन का पोस्टर:रास्ते को लेकर हुए झगड़े में 7 दिन तक नहीं हुई कार्रवाई पुलिस ने कराया समझौता

पीलीभीत में गांव के दबंगों से परेशान दलित परिवार ने पलायन कर जाने की बात लिखते हुए घर के बाहर पोस्टर लगाया है। मामले की जानकारी होते ही प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया। आनन फानन में मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने दोनों पक्षों के बीच समझौता कराया।

गजरौला थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले सराय सुंदरपुर गांव के रहने वाले संदीप कुमार ने बताया कि गांव के ही रहने वाले हरि सिंह, जितेंद्र, भरत सिंह पक्ष से उनका रास्ते को लेकर विवाद चल रहा है। 13 सितंबर को उनके पिता अनोखेलाल फेरी करके वापस लौट रहे थे। इस दौरान दबंगों रास्ते में रोकर उनके साथ गाली गलौज और मारपीट की।

कार्रवाई न होने से नाराजगीदबंगों ने जाति सूचक शब्द भी कहे। पूरे मामले में पीड़ित पक्ष ने थाने में तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई। जब पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की तो सोमवार देर रात संजीव ने अपने घर के बाहर पलायन कर जाने की बात कहते हुए पोस्टर चस्पा कर दिया।

पोस्टर चस्पा करने के बाद मचा हड़कंपदलित परिवार के पलायन करने की बात कहते हुए पोस्टर चस्पा करने का मामला जैसे ही पुलिस अधिकारियों के संज्ञान में आया स्थानीय पुलिस उच्च अधिकारियों के साथ मौके पर जा पहुंची। अधिकारियों ने दोनों पक्षों के बीच समझौता कराया। दोनों पक्षों के बीच रास्ते का विवाद निपट जाने के बाद पुलिस वापस गई।

एक पक्ष ने कोर्ट में की अपील गजरौला थाना अध्यक्ष आशुतोष रघुवंशी ने बताया है कि रास्ते को लेकर दो पक्षों में विवाद चल रहा था। पहले भी दोनों पक्षों के बीच आपसी समझौता हो चुका है। इसी बीच एक पक्ष ने कोर्ट में वाद दायर कर दिया था, जिस पर दूसरे पक्ष ने नाराज होकर पलायन करने की बात कही थी। फिलहाल दलित परिवार और दूसरे परिवार के बीच समझौता हो गया है।

दूसरी बार लगा है पोस्टर यह कोई पहली बार नहीं है कि जिले में दलित परिवार द्वारा पलायन का पोस्टर लगाया गया है। इससे पहले भी पुलिस ने कार्रवाई न किए जाने से परेशान दलित परिवार ने बीसलपुर इलाके में पलायन किए जाने की बात कहते हुए घर के बाहर पोस्टर लगाया था और परिवार पलायन भी कर गया था।

Leave a Reply

Required fields are marked *