नोएडा में दीवार गिरने से 4 की मौत: 5 जेसीबी मशीनों से मलबा हटाकर दबे लोगों को बाहर निकाला गया

नोएडा में दीवार गिरने से 4 की मौत: 5 जेसीबी मशीनों से मलबा हटाकर दबे लोगों को बाहर निकाला गया

नोएडा के सेक्टर 21 जलवायु विहार सोसाइटी की दीवार गिर गई। हादसे में 4 लोगों की मौत हो गई है। जिसमें तीनों एक ही परिवार के थे। सूचना पर मौके पर फायर ब्रिगेड कर्मी पुलिस और प्राधिकरण के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। ये दीवार सोसाइटी को चारों ओर से कवर करती है। इसका एक तरफ का करीब 100 मीटर हिस्सा गिरा है। मौके पर 5 जेसीबी मशीन से मलबा हटाकर दबे मजदूरों को बाहर निकाला गया। मरने वालों में धर्मवीर, पुष्पेंद्र (25), पन्ना लाल (25) और अमित (18) हैं। पुष्पेंद्र पन्ना और अमित एक ही परिवार के थे। तीनों बदायूं के रहने वाले थे जबकि धर्मवीर संभल का रहने वाला था। नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने कहा मरने वालों के परिजनों को 5-5 लाख रुपए मुआवजा मिलेगा। कॉन्ट्रैक्टर से मुआवजा दिलाएंगे। नोएडा प्राधिकरण ने दिया था कॉन्ट्रैक्ट जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने बताया नोएडा प्राधिकरण की ओर से नाले की सफाई के लिए कॉन्ट्रैक्ट दिया गया था। मजदूर नाले की सफाई का काम कर रहे थे। ईंट निकालने के दौरान नाले की तरफ की दीवार गिरी। इसमें काम करने वाले 12 मजदूर दब गए। इसमें दो लोगों को जिला अस्पताल और दो को कैलाश अस्पताल लाया गया था। डॉक्टर्स ने चारों को मृत घोषित कर दिया। 8 को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ठेकेदार अनुज यादव फरार है। पूरे मामले की जांच की जाएगी। नाले से सटी हुई है दीवार जो दीवार गिरी है वो नाले से सटी हुई है। बीते 5 दिनों से नाले की सफाई का काम किया जा रहा है। जिसमें 12 मजदूर काम कर रहे थे। अचानक दीवार भर भराकर गिर गई। नोएडा प्राधिकरण के एक अधिकारी ने बताया ये दीवार जलवायु सहकारी आवास समिति ने करीब 25 साल पहले बनाई थी। इसका रखरखाव नहीं किया जा रहा था। ऐसे में दीवार की नींव कमजोर हो गई थी जिससे ये अचानक से भरभरा कर गिर गई। मलबा हटाने के लिए मौके पर एक जेसीबी काम कर रही है। मलबे को हटाया जा रहा है। अभी सोसाइटी की ओर से किसी ने नहीं कहा कि उनका कोई परिजन दीवार के मलबे की चपेट में आया है। जल्द पूरा होगा रेस्क्यू का काम पुलिस के सीनियर अधिकारी मौके पर है। उनका कहना है कि मलबा हटाने का काम तेजी से किया जा रहा है। जल्द ही इस काम को पूरा कर लिया जाएगा। हमारी प्राथमिकता ये है कि मलबे के नीचे कोई दबा न हो। इसके लिए एंबुलेंस भी मौके पर है। साथ ही अस्पताल को अलर्ट पर किया गया है। हादसे को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने दुख व्यक्त किया है। 8 लोगों को चल रहा इलाज बदायूं के पंकज, संजीव, नन्हे, विनोद, दीपक, जोगेंद्र, पप्पू और संभल के ऋषि पाल हैं। जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। एसीईओ की अध्यक्षता में बनी जांच कमेटी नोएडा प्राधिकरण की सरईओ रितु महेश्वरी ने बताया कि चार दीवारी के साथ बनी नाली के अनुरक्षण कार्य के लिए जलवायु विहार सेक्टर 21 आरडब्ल्यूए की ओर से कहा गया था। 17 अगस्त को एमडी प्रोजेक्ट एंड कंस्ट्रक्शन को 92 लाख रुपए का अनुबंध किया था। इसका अनुरक्षण कार्य शुरू कराया जा रहा था।15 दिन में देनी होगी रिपोर्ट नोएडा प्राधिकरण की सीईओ ने एसीईओ मानवेंद्र सिंह की अध्यक्षता में एक जांच समिति गठित की है। जिसमें एसीईओ प्रवीन मिश्रा और सीएपी इश्तियाक अहमद हैं। इन तीनों को 15 दिन के अंदर रिपोर्ट देनी होगी। इस जांच में थर्ड पार्टी तकनीकी संस्था फॉरट्रेस इंफ्राकॅान लिमिटेड इनका सहयोग करेगी।

Leave a Reply

Required fields are marked *