नही रहे गोला विधायक अरविंद गिरि , जानिए अरविंद गिरी का सफ़रनामा

नही रहे गोला विधायक अरविंद गिरि , जानिए अरविंद गिरी का सफ़रनामा

आज सुबह लखनऊ से एक बुरी ख़बर आयी कि गोला विधानसभा से एमएलए अरविंद गिरि का हृदयाघात से निधन हो गया है । अरविंद गिरि कल रात लखनऊ जा रहे थे तभी रास्ते मे उनको हार्ट अटैक पड़ा और लखनऊ के एक अस्पताल में उनको मृत घोषित कर दिया गया । अरविंद गिरि तीन बार सपा से और 2 बार बीजेपी से विधानसभा जीते थे अपनी । एक नज़र डालते हैं अरविंद गिरि के राजनैतिक और व्यक्तिगत सफ़रनामे पर ।

1993 : छात्र जीवन से राजनीति में आए।

1994 : सपा की सदस्यता ग्रहण कर सक्रिय राजनीति की शुरुआत

1995 : रिकार्ड मतों से चुनाव जीतकर गोला पालिकाध्यक्ष बने 1996 : 13 वीं विधान सभा में सपा के टिकट पर पहली बार 49 हजार मत पाकर विधायक बने।

1998-1999 सदस्य, लोक लेखा समिति

2000 : दोबारा पालिका परिषद गोला के अध्यक्ष

2002 : सपा के टिकट पर 14वीं विधान सभा के दूसरी बार विधायक बने

2002-2003 सदस्य, प्राक्कलन समिति

2005 : सपा शासनकाल में अनुध वधू अनीता गिरि को जिला पंचायत अध्यक्ष निर्वाचित कराया

2007 : नगर पालिका परिषद गोला के अध्यक्ष पद पर पत्नी सुधा गिरि को जिताया

2007 : 58 हजार मत पाकर तीसरी बार पन्द्रहवीं विधान सभा में विधायक बने

2007-2009 सदस्य, अधिष्ठाता मण्डल

2008 सदस्य, प्रतिनिहित विधायन समिति

2007-2009 सदस्य, प्रदेश के स्थानीय निकायों के लेखा परीक्षा प्रतिवेदनों की जांच सम्बन्धी समिति

मार्च, 2022: 18वीं विधान सभा के लिए भारतीय जनता पार्टी पाँचवी बार विधायक निर्वाचित हुए।

नाम-अरविन्‍द गिरि निर्वाचन क्षेत्र – 139, गोला गोकरननाथ, लखीमपुर खीरी दल – भारतीय जनता पार्टी

पिता का नाम- स्व0 राजेन्द्र गिरि जन्‍म तिथि –30 जून, 1958 जन्‍म स्थान- गोला गोकरननाथ

धर्म- हिन्दू जाति- पिछड़ी (गुसाई)

शिक्षा- स्नातक, बीपीएड

विवाह तिथि- 21 जून, 1991 पत्‍नी का नाम- सुधा गिरि संतान- दो पुत्र, दो पुत्रियां व्‍यवसाय- कृषि, अध्यापन मुख्यावास : मो0-तीर्थगोला गोकरन नाथ, जिला- लखीमपुर-खीरी ।

Leave a Reply

Required fields are marked *